भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। करोंद स्थित कृषि उपज मंडी में सोमवार रात करीब साढ़े नौ बजे एक नकाबपोश बदमाश ने अनाज व्यापारी पर कट्टे से फायर कर दिया। नीचे झुक जाने से व्यापारी की जान बच गई। गोली दुकान की दीवार में धंस गई। वारदात के बाद हमलावर मौके से फरार हो गया। चेहरा कपड़े से ढंका होने और दुकान के बाहर लगे मंडी के कैमरे बंद होने से पुलिस को आरोपित के बारे में कोई सुराग नहीं मिल सका है। घटना के बाद व्यापारी दहशत में हैं। उन्होंने सुरक्षा की मांग को लेकर मंगलवार सुबह से अपना करोबार बंद कर दिया। अधिकारियों की समझाइश और सुरक्षा का आश्‍वासन मिलने के बाद वे माने और कामकाज शुरू किया।

निशातपुरा थाना पुलिस के मुताबिक लालघाटी स्थित ग्लोबल ग्रीन कालोनी में रहने वाले अनिल भागचंदानी (50) अनाज व्यापारी हैं। पंडित लक्ष्मीनारायण शर्मा कृषि उपज मंडी में उनकी दुकान है। सोमवार रात को वह अपनी दुकान में मौजूद थे। रात करीब साढ़े नौ बजे अज्ञात नकाबपोश युवक उनकी दुकान में घुस आया। उसने अनिल से कहा कि वह उनका पार्सल लेकर आया है। अनिल ने उससे चेहरे से कपड़ हटाने को कहा। साथ ही अनहोनी की आशंका को भांपते हुए बदमाश को बाहर धकियाते हुए दुकान में बने चैंबर का दरवाजा बंद कर लिया। इस पर बदमाश ने अनिल को निशाना बनाते हुए कट्टे से फायर कर दिया। अनिल कुर्सी से नीचे झुक गए। जिसके चलते गोली दरवाजे का कांच तोड़ते हुए दीवार में जा धंसी। वारदात के बाद आरोपित मौके से फरार हो गया। धमाके की आवाज सुनते ही आसपास के व्यापारी इकट्ठे हो गए। कुछ लोगों ने बदमाश का पीछा भी किया, लेकिन वह भागने में कामयाब हो गया। घटना की सूचना मिलते ही निशातपुरा थाना प्रभारी महेंद्रसिंह चौहान मौके पर पहुंच गए थे। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस मंडी में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज से बदमाश के बारे में सुराग जुटाने की कोशिश कर रही है।

व्यापारियों में रोष, मंडी में 61 गार्ड, मौके पर एक भी नहीं था

मंगलवार को भोपाल ग्रेन मर्चेन्ट एंड सीड्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हरीश ज्ञानचंदानी, प्रवक्ता संजीव जैन, गोली कांड में बाल-बाल बचे अनिल कुमार सहित मंडी के समस्त अनाज व्यापारियों ने निंदा की। घटना के विरोध में और सुरक्षा की मांग को लेकर सभी व्यापारियों ने अनाज मंडी में नीलामी रोक दी। मंडी में सभी तरह का काम-काज बंद कर दिया। एसोसिएशन के प्रवक्ता संजीव जैन ने बताया कि सुरक्षा के लिए मंडी प्रबंधन के 61 सुरक्षा गार्ड है, लेकिन घटना के समय एक भी गार्ड वहां मौजूद नहीं था। मंडी में लगे कैमरे भी खराब पड़े हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local