भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। किसी गरीब की मदद करने उसके जीवन में रोशनी लाने से ही दीपोत्सव की सार्थकता है। पटाखे जलाने और दीप प्रज्‍जवलित करना हमारी परपंरा है इसे नहीं छोड़ें, लेकिन गरीब की मदद करने में पीछे नहीं हटें। सुधार सभा द्वारा आयोजित दीपावली मिलन समारोह में जीव सेवा संस्थान के सचिव महेश दयारामानी ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव का एक उद्देश्य यह भी होना चाहिए कि हम कम से एक परिवार की मदद करें। ऐसे परिवार के हर सदस्य के चेहरे पर खुशियां आ जाएं तो इस पर्व की सार्थकता होगी। जीव सेवा संस्थान लंबे समय से गरीब परिवारों की मदद कर रही है। संस्थान की स्थापना मानव सेवा के प्रतीक संत हिरदारामजी के आशीर्वाद एवं प्रेरणा से हुई थी। संतजी के ब्रह्मलीन होने के बाद उनके उत्तराधिकारी संत सिद्धभाऊ के सान्‍निध्‍य में संस्थान काम कर रहा है।

बच्चों ने बताया, कैसे मनाई दीपावली

इस अवसर पर साधु वासवानी स्कूल के बच्चों ने कहा कि इस बार उनकी दीपावली अच्छी रही। पटाखों की जगह फुलझड़ी और दीप जलाकर त्यौहार की खुशियां मनाईं। पिछले दिनों स्कूल में पूजा थाली सजाओ स्पर्धा हुई थी। बच्चों ने कहा कि हमने उसी थाली में पूजन किया। समारोह में मदन बाबानी, आसूदोमल लच्छवानी, वासुदेव मोतियानी एवं जनक थद्धानी ने अपने विचार रखे। प्रारंभ में शिक्षाविद् विष्णु गेहाणी ने स्वागत भाषण दिया। कार्यक्रम में प्राचार्य आनंद वर्मा, दीपा आहूजा, राम पाराशर, नरेश फूलचंदानी सहित अनेक लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन भावना कलवानी ने किया। इस मौके पर मिष्ठान वितरण किया गया।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local