Bhopal Health News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। हमीदिया अस्पताल परिसर में 2000 बिस्तर वाले नए भवन को तैयार करने की समयसीमा पिछले 3 साल में 13 बार बढ़ाई जा चुकी है। इसके बाद भी भवन तैयार नहीं हो पा रहा है। अभी एक ब्लॉक के पूरा होने की मियाद 31 अगस्त और दूसरे की 15 सितंबर थी, लेकिन निर्माण एजेंसी पीआइयू के अधिकारियों का कहना है कि किसी भी हालत में अक्टूबर के पहले भवन तैयार नहीं हो पाएगा। अभी करीब पांच फीसद काम ब्लॉक-1 में बाकी है। तीन फीसद के करीब काम ब्लॉक-2 में भी बचा हुआ है। खिड़कियों में कांच लगाना, दरवाजा और फाल्स सीलिंग समेत कई काम बाकी हैं।

अब ब्लॉक दो 15 अक्टूबर तक और ब्लॉक एक 31 अक्टूबर तक तैयार होने की उम्मीद है। हालांकि, बहुत तेज गति से काम हुआ, तभी इस अवधि में दोनों ब्लॉक तैयार हो पाएंगे। दोनों ब्लॉक तैयार होने के बाद हमीदिया प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल हो जाएगा। अभी किसी भी अस्पताल 2000 बिस्तर नहीं हैं।

अस्पताल तैयार नहीं होने होने से इन कामों में आ रही है दिक्कत

--गांधी मेडिकल कॉलेज में एमडी-एमएस की 112 सीटें बढ़ाई जानी है, लेकिन मौजूदा अस्पताल में नेशनल मेडिकल कमीशन के मापदंडों के अनुसार जगह नहीं है।

--सुल्तानिया अस्पताल को हमीदिया अस्पताल परिसर के नए भवन में शिफ्ट किया जाना है, लेकिन यह काम भी पूरा नहीं हो पा रहा है। सुल्तानिया अस्पताल अभी हमीदिया से करीब दो किलोमीटर की दूरी पर है। मरीजों के परिजन को जांच कराने के लिए सैंपल लेकर हमीदिया आना पड़ता है। प्रसव के बाद गंभीर बच्चों को भी हमीदिया में भर्ती कराया जाता है।

--एमबीबीएस की पिछले साल बढ़ाई गई 250 सीटों की मान्यता के लिए भी मुश्किल आ सकती है। इसकी वजह है कि विभागवार जितने बिस्तर 250 सीटों के लिए होने चाहिए, उतने नहीं है। कुल बिस्तर भले ही ज्यादा हैं, लेकिन कुछ विभागों में मापदंड से काफी ज्यादा बिस्तर हैं तो कुछ विभागों में कम हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local