Bhopal Health News: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान( एम्स) भोपाल में लो विजन क्लिनिक शुरू होने जा रहा है। इस क्लिनिक को उन लोगों के लिए शुरू किया जा रहा है, जिनकी दृष्टि बेहद कम है। नेत्र रोग विभाग की विभागाध्यक्ष भावना शर्मा ने बताया कि यह सुविधा उन रोगियों के लिए मददगार होगी, जिन्हें स्थायी रूप से दृष्टि की कमी का सामना करना पड़ रहा है। यहां उन्हें स्वतंत्र और उत्पादक जीवन जीने में मदद करने के लिए विशेष परामर्श दिए जाएंगे।

क्लिनिक की स्थापना के दौरान एम्स के कार्यपालक निदेशक डा. अजय सिंह ने कहा कि समाज में नेत्र रोगों और नेत्र स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ रही है। संस्थान का नेत्र रोग विभाग मध्य भारत में ऐसी गतिविधियों में सबसे आगे रहा है। प्रदेश के राज्यपाल मंगूभाई पटेल ने एम्स भोपाल में इस सुविधा का उद्घाटन करने के लिए अपनी सहमति दी है।

एम्स में फिलहाल यह इलाज मौजूद

अस्पताल प्रबंधन के अनुसार नेत्र विज्ञान विभाग लैमेलर प्रत्यारोपण, विट्रो-रेटिनल रोग, ग्लूकोमा, आरओपी और यूवाइटिस सहित कॉर्नियल रोगों के अत्याधुनिक विशेषज्ञ मौजूद हैं। साथ ही फोल्डेबल आइओएल लेंस के साथ फेको इमल्सीफिकेशन का उपयोग करके मोतियाबिंद की सर्जरी की जाती है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close