भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। देश में सबसे अच्छे पंचकर्म की सेवा देने वाली संस्थाओं की सूची में भोपाल के पं. खुशीलाल आयुर्वेद शासकीय चिकित्सालय का नाम भी शामिल हो गया है। किसी पांच सितारा होटल की सुविधाओं जैसा भोपाल के पंचकर्म सेंटर को अपडेट किया गया है। यहां पर केरल की तर्ज पर थैरेपिस्ट पंचकर्म करेंगे। कलियासोत डैम के पास देश का पहला सरकारी पंचकर्म एंड वेलनेस सेंटर बनकर तैयार हो गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे खुशीलाल आयुर्वेदिक कालेज परिसर में स्‍थित नवीन पंचकर्म वेलनेस सेंटर में पहुंचे और इसका लोकार्पण किया। लोकार्पण कार्यक्रम में आयुष विभाग के राज्‍यमंत्री रामकिशोर कांवरे, सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, विधायक पीसी शर्मा समेत अनेक गणमान्‍य लोगों ने अपनी उपस्‍थिति दर्ज कराई।

लोकार्पण कार्यक्रम में अपने उद्धोधन के दौरान सीएम शिवराज ने कहा कि कोविड के बाद आयुर्वेद का ढंगा पूरी दुनिया में फिर से बज रहा है। कोविड के समय में कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था, तब आयुर्वेद और योग ने रास्ता दिखाया। आयुर्वेद पांचवा वेद है। सब धर्मों का पालन करने का साधन शरीर है। शरीर में ताकत नहीं है, तो आत्मा मिलेगी न परमात्मा मिलेंगे। एलोपैथी की अपनी उपयोगिताएं हैं लेकिन आयुर्वेद एक संपूर्ण विधा है। आयुर्वेद में नाड़ी देखकर ही रोग का पता लगा लेते थे, रोग का मूल कारण पता करते थे। जब तक मूलकारण पता नहीं होगा तो रोग कैसे ठीक होगा। मैं किसी भी विधा का विरोधी नहीं हूं, लेकिन आयुर्वेद का लोहा अब पूरी दुनिया मान रही है.

अस्‍पतालों में हों आयुर्वेदिक डाक्‍टर

मुख्‍यमंत्री ने आगे कहा कि मेरा एक निवेदन है। आयुर्वेद एक ऐसी विधा है जिसे पूरी दुनिया जल्द अपनाएगी। आयुर्वेदिक दवाओं की मांग बढती जा रही है। हम अस्पतालों में आयुर्वेदिक डॉक्टर की भी व्यवस्था भी करें। वहां आयुर्वेदिक डाक्टर भी हों और एलोपैथिक डाक्टर भी। मुझे गर्व होता है यह बताते हुए कि आप आयुर्वेद में रिसर्च करते हुए, आयुर्वेद को बढ़ावा दें। धीरे-धीरे आयुर्वेद में रिसर्च खत्म हो गया है, इसलिए मेरी इच्छा है कि हम रिसर्च करें। नये नये शोध होता रहे। आपको जो संसाधन चाहिए, मिलेंगे, लेकिन यह शोध का सेंटर बनें। हम कल दुनिया को दिखा सकें, संपूर्ण स्वास्थ्य कहीं तो आयुर्वेद और योग के द्वारा ही है। मैं 24 में से 18 घंटे काम करता ही करता हूं, उसका कारण है योग और व्यायाम।

अंग्रेजी में नामकरण पर एतराज

सीएम शिवराज ने इस केंद्र के अंग्रेजी में नामकरण को लेकर ऐतराज जताया। उन्‍होंने कहा कि वेलनेस सेंटर नाम रख दिया। हिंदी में नाम रखो। अंग्रेज चले गये, लेकिन अंग्रेजी थोप गये। अंग्रेजी का मतलब विद्वत्ता नहीं है, अग्रेजी प्रतिभाओं को मार रही है, अंग्रेजी का हौआ बना दिया। हमने प्रदेश की धरती पर तय किया है कि मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई हिंदी में होगी, आयुर्वेद में तो होगी ही होगी।

आयुर्वेद विश्‍वविद्यालय की बात

बेटियों ने छात्रावास की मांग की थी वो बन गया है, इस बार भांजों के लिए भी छात्रावास के लिए बजट में आवंटित कर दिया जाएगा। हम आयुर्वेद विश्वविद्यालय के बारे में भी गंभीरता से विचार करें। मध्यप्रदेश सरकार आयुर्वेद को आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी। पंचकर्म आयुर्वेद का ही अंग है, यह व्यक्ति को पूरी तरह से स्वस्‍थ करेगा।

देश के पहले शासकीय पंचकर्म वेलनेस सेंटर में ये सुविधाएं

पंचकर्म एंड वेलनेस सेंटर में कुल 50 बेड हैं। इनमें सेमी प्राइवेट वार्ड, डीलक्स रूम और पांच सितारा होटल की तरह सुपर डीलक्स रूम बनाए गए हैं। डीलक्स रूम में सिंगल और डबल बेड के साथ ही अटेंडर के रुकने की भी व्यवस्था रहेगी।

पंचकर्म कराने के लिए तैयार पैकेज के दाम

सेमी प्राइवेट वार्ड : 700 रुपये प्रतिदिन (इसमें भोजन शामिल नहीं)

डीलक्स रूम : 3500 रुपये प्रतिदिन (भोजन, रुकने से लेकर पंचकर्म सहित)

सुपर डीलक्स रूम : 4900 रुपये प्रतिदिन (भोजन, रुकने से लेकर पंचकर्म सहित)

इन पैकेजों के तहत होगा उपचार

'वेट मैनेजमेंट" में मोटापे से छुटकारा पाने की चाह रखने वाले को उदवर्तन, रुक्षश्वेद थैरेपी दी जाएगी। योगा, मेडिटेशन भी सिखाया जाएगा। इसके अतिरिक्त स्पाइन एंड ज्वाइंट केयर, पैरालिसिस मैनेजमेंट एंड रिहैबिलिटेशन, स्किन एंड ब्यूटी केयर, जीरियाटिक केयर और ह्रदय रोग, बीपी, शुगर, थायराइड और मोटापे जैसी बीमारियों से मुक्त रखने के लिए योगा, डाइट प्लान और बीमारी के मुताबिक थेरेपी दी जाती है।

ऐसा है तीन मंजिला पंचकर्म सेंटर

भूतल में चिकित्सक ओपीडी चेंबर, पैथालाजी, बायोकेमिस्ट्री, अल्ट्रा सोनोग्राफी की सुविधाएं जुटाई गई हैं। जबकि प्रथम तल पर आठ डीलक्स रूम, पंचकर्म यूनिट, जखूजी, सोना बाथ, स्टीम चैंबर, द्वितीय तल पर छह डीलक्स रूम पंचकर्म यूनिट, योगा हाल, फिजियोथेरेपी यूनिट, नर्सिंग ड्यूटी रूम। तृतीय तल पर छह डीलक्स रूम, सुपर डीलक्स रूम, सेमी प्राइवेट वार्ड (मेल, फीमेल), पंचकर्म यूनिट।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close