भोपाल। राजधानी में 21 कोरोना पॉजीटिव मरीज सामने आए हैं, जिसे देखते हुए भोपाल अब हाई सेंसेटिव जोन में आ गया है। इसमें से 3 डॉक्टर पल्लव दुबे, वीरेंद्र कुमार, रोशनी दिलबगी कोरोना संक्रमित हुए है। 18 अधिकारी कर्मचारी स्वास्थ्य विभाग व उनके परिवार के लोग हैं। वही तीन पुलिसकर्मियों के परिजनों संक्रमित पाए गए है। इस तरह भोपाल में कोरोना के संक्रमित मरीजों की संख्या 120 पहुंच गई है।

बता दें कि शुक्रवार को जारी सूची में संक्रमित पाए गए डॉक्टर पल्लव दुबे विगत दिनों पॉजिटिव पाए गए उपेंद्र दुबे के बेटे हैं। सविता दुबे पत्नी बताई जा रही है। इसी तरह स्वास्थ्य विभाग के सौरभ पुरोहित की पत्नी सुनीता पुरोहित व 2 साल का बच्चा वीर पुरोहित भी करना पर संक्रमित पाया गया है। इसी तरह पीसी थॉमस, मेरी थॉमस, एलन थॉमस भी कोरोना के पॉजिटिव पाए गए है।

भोपाल में फिर दिखा लॉक डाउन का खुला उल्लंघन

भोपाल: शहर में फिर दिखा लॉक डाउन का खुला उल्लंघन। एम्स के पास स्थित बागमुगालिया में सड़क पर उतरे दर्जनों लोग। उनका आरोप है कि प्रशासन राशन वितरण ठीक ढंग से नहीं कर रहा। राशन न मिलने से कई परिवारों के लोग दिक्कत में हैं। कई बार शिकायत करने के बाद भी सुनवाई न हुई तो स्थानीय लोग एकजुट होकर बीच सड़क पर धरने पर बैठे गए। उन्होंने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोगों का आरोप है कि मुख्यमंत्री की बात भी नही सुन रहे अधिकारी। सड़क पर इस तरह भीड़ उमड़ने से कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा बन गया है।

बीआरटीएस बसों से होगा खाद्यान्न परिवहन

शहर में खाद्यान्न की आपूर्ति करने की जिम्मेदारी बीसीएलएल की बसों पर होगी। बसों से शहर में खाद्यान्न वितरित किया जाएगा। वहीं नगर निगम के वेंडर सब्जी बेचने घरों तक जाएंगे। जरूरी सामानों की ऑनलाइन डिलीवरी भी चालू रहेगी।

एम्स से नाराज होकर चिरायु गईं एनएचएम की संचालक रंजना गुप्ता, बोलीं- मैं वहां मरने नहीं गई थी

कोराना वायरस का इलाज कराने के लिए एम्स में भर्ती राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) की संचालक डॉ.रंजना गुप्ता बुधवार को वहां से नाराज होकर चिरायु मेडिकल कॉलेज चली गईं। कोरोना मरीज होने के चलते एम्स के डॉक्टरों ने उन्हें रोकने की कोशिश की। एसडीएम से भी बात कराई, पर वहीं नहीं रुकीं।

इसके बाद सुरक्षा गार्ड ने गेट पर उनकी एंबुलेंस रोकने की कोशिश की, पर उन्होंने एंबुलेंस को रुकने नहीं दिया। एम्स में मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ. रजनीश जोशी ने बागसेवनिया थाने में इसकी सूचना दी है।

इस पर डॉ. गुप्ता का कहना है कि एम्स में व्यवस्थाएं ठीक नहीं, इसलिए अपनी मर्जी से चिरायु मेडिकल कॉलेज गई हूं। पुलिस को सूचना देने की बात पर उन्होंने कहा कि मैं एम्स में मरने नहीं गई थी। इसके पहले उपसंचालक डॉ. सौरभ पुरोहित दो दिन पहले एम्स से चिरायु मेडिकल कॉलेज चले गए थे।

एम्स में भर्ती सभी स्वास्थ्यकर्मी चिरायु में होंगे शिफ्ट

रंजना गुप्ता के अलावा एम्स में स्वास्थ्य विभाग के 11 कर्मचारी-अधिकारी भर्ती हैं। सभी चिरायु में शिफ्ट करने के लिए अपने अधिकारियों से गुहार लगा रहे थे। बुधवार को स्वास्थ्य आयुक्त फैज अहमद किदवई ने एम्स में प्रबंधन को पत्र लिखकर सभी को चिरायु अस्पताल में इलाज के लिए ट्रांसफर करने को कहा है। यह कर्मचारी एम्स में नाश्ता और खाना अच्छा नहीं मिलने, डॉक्टरों के देखने के लिए नहीं आने व प्रोटोकाल के अनुसार इलाज नहीं करने की शिकायत कर रहे थे।

एम्स ने प्रीति पांडेय के आरोप को गलत बताया

एम्स में भर्ती कोरोना संक्रमित एनएचएम के आईटी कंसल्टेंट राजकुमार पांडेय की पत्नी प्रीति पांडेय ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि उनके पति का ठीक से इलाज नहीं हो रहा है। एमपी नगर के एसडीएम एनके सिंह ने बुधवार को एम्स पहुंचकर इसकी जांच की। यहां डॉ. लक्ष्मी प्रसाद ने बताया कि वीडियो में लगाए गए आरोप पूरी तरह से निराधार हैं।

पांडेय की शुरू से नियमित जांच हो रही है। उन्हें इलाज के तरीके बारे में भी बताया गया है। डॉ. लक्ष्मी प्रसाद ने बताया कि राजकुमार की हालत स्थिर है, इसलिए उन्हें आईवी व विटामिन सी देने की जरूरत नहीं है। उन्हें वही भोजन दिया जा रहा है जो अस्पताल के चिकित्सक करते हैं। प्रशासन ने उनके घर का सैनिटाइजेशन व जरूरी सामग्री की आपूर्ति भी कराई है।

डॉ. रंजना गुप्ता ने कुछ बताया ही नहीं। उन्हें कुछ शिकायत थी तो मुझे बताना चाहिए था। प्रीती पांडेय ने एम्स में भर्ती उनके पति राजकुमार पांडेय के इलाज में दिक्कतों का आरोप लगाते हुए एक वीडियो जारी किया है। एम्स में सभी मरीजों का इलाज तय प्रोटोकाल के अनुसार किया जा रहा है। डॉक्टर-नर्स पूरे समर्पण के साथ काम कर रहे हैं। खाना भी ठीक मिल रहा है। - प्रो.(डॉ.) सरमन सिंह, डायरेक्टर, एम्स भोपाल

पिछले सात दिनों में कब कितने मरीज मिले?

तारीख--पॉजिटिव

2 अप्रैल-- 4

3 अप्रैल-- 7

4 अप्रैल-- 3

5 अप्रैल-- 23

6 अप्रैल-- 22

7 अप्रैल-- 21

8 अप्रैल-- 10

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना