भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। Bhopal Metro: मेट्रो प्रोजक्ट की नींव एक साथ रखी गई थी, लेकिन भोपाल ने इंदौर को इस मामले में काफी पीछे छोड़ दिया है। इंदौर में जहां मेट्रो के पहले चरण के सिविल वर्क का काम 10 फीसद भी नहीं हुआ, वहीं भोपाल में मेट्रो सिविल वर्क के दूसरे चरण के टेंडर की तैयारी शुरू हो चुकी है। मेट्रो रेल कार्पोरेशन के अधिकारियों ने बताया कि राजधानी में मेट्रो का पहला सिविल वर्क छह माह के अंदर पूरा कर लिया जाएगा। इस सिविल वर्क में एम्स से सुभाष नगर तक मेट्रो संचालन के लिए एलीवेटेड रूट का निर्माण कराया जा रहा है। यह काम मेट्रो पर्पल कॉरीडोर (लाइन-2) एम्स से करोंद तक 14.99 किमी रूट के तहत किया जा रहा है।

सुभाष नगर से करोंद पर सिविल वर्क की तैयारी

पर्पल लाइन की कुल लंबाई 14.99 किमी में 8.7 किमी का रूट सुभाष नगर से करोंद तक बचा हुआ है। इस हिस्से में सिविल वर्क करने के लिए टेंडर की तैयारी की जा रही है। नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने मेट्रो रेल कार्पोरेशन को हरी झंडी भी दे दी है। अधिकारियों ने बताया कि टेंडर जारी करने से पहले टेक्निकल बिट जारी की जाएगी। इसमें देश की कई बड़ी कंपनी भाग लेंगी।

एक साल पहले हो चुका है सर्वे

कांग्रेस सरकार ने मेट्रो के काम में तेजी लाने का निर्देश दिया था। तब मेट्रो रेल कार्पोरेशन के पत्र के बाद जिला प्रशासन ने भूमि आवंटन, अतिक्रमण, बिजली व पानी की पाइपलाइन को लेकर रिपोर्ट भी तैयार की थी। अब चिन्हित बाधाओं को दूर करने के लिए जिला प्रशासन, नगरीय विकास विभाग के अधिकारी व कार्पोरेशन के अधिकारियों की बैठक जल्द होगी। भोपाल रेलवे स्टेशन के छह नंबर प्लेटफार्म के पास भूमिगत मेट्रो स्टेशन के लिए लगभग 24 मीटर की खाली जमीन को अधिग्रहित किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस