संत हिरदाराम नगर, नवदुनिया प्रतिनिधि। शिक्षक दिवस को गुजरे भले ही 10 दिन बीत चुके हों, लेकिन सम्मान समारोह का सिलसिला अब भी जारी है। हाल ही में बैरागढ़ में स्‍थित संस्था संस्कार ने उत्कृष्ट एवं सेवाभावी शिक्षकों का सम्मान किया। कार्यक्रम विधायक रामेश्वर शर्मा के मुख्य आतिथ्य में संपन्‍न हुआ।

संस्कार सभागृह में आयोजित समारोह में सचिव बसंत चेलानी शिक्षकों को नमन करते हुए कहा कि शिक्षक एक सम्‍मान भरा शब्द है। वर्तमान में शिक्षकों पर देश के नवनिर्माण का बड़ा दायित्व है। यह खुशी की बात है कि हमारे शिक्षक इस दायित्व का निर्वहन बड़ी खुशी से कर रहे हैं। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विधायक रामेश्वर शर्मा ने सभी शिक्षकों का अभिनन्दन करते हुए कहा कि विद्या से हमें ज्ञान मिलता है। विद्या हमें विनम्र बनाती है। आज शिक्षा हथियार बन गई है। जो जैसा ज्ञान प्राप्त करता है, वो वैसा ही समाज में कार्य करता है। हम केवल डिग्री के लिए ही शिक्षा ग्रहण नहीं करते, बल्कि समाज के कुछ दे सके इसलिए शिक्षा अर्जित करते है। उन्होंने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय सभ्यता, संस्कार जीवन जीने की पद्धति का मार्ग है, बच्‍चो आप शिक्षा के मंदिर में ऐसी ऊचांइयां प्राप्‍त करें कि चन्दा मामा भी तुमसे मिलने को लालायित हो।

गुरु के बिना ज्ञान नहीं मिल सकता

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे प्रमुख समाजसेवी घनश्याम थारानी ने कहा कि गुरू के आशीष वचनों से ही बच्चों के जीवन में निरंतर प्रगति होती है। उन्होनें कहा कि बिना गुरू के ज्ञान मिलता ही नहीं है। हमारे मन के अंदर जो अंधकार है, वह गुरु के ज्ञान के दीपक के द्वारा ही दूर होता है। कार्यक्रम में उपस्थित महेश दयारामानी ने कहा कि इस दुनिया में बदलाव लाने के लिए सबसे प्रभावशाली हथियार शिक्षा ही है। इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य आरके मिश्रा, उप-प्राचार्य मीनल नरियानी, प्रधानाचार्या सुश्री मृदुला गौतम एवं प्रबंध समिति के पदाधिकारी चंद्र नागदेव सहित बड़ी संख्या में शिक्षक, विद्यार्थी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local