- समन्वय भवन में सुबह 11 बजे पहुंची थी वृद्ध विधवा महिलाएं

- गैस राहत मंत्री से मिलकर पेंषन चालू करने की बात कही

फोटो- गैस राहत मंत्री विश्वास सारंग से उनके बंगले पर मुलाकात कर अपनी बात रखते हुए गैस पीड़ित विधवा महिलाएं।

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

गैस पीड़ित विधवा महिलाओं को बुधवार पुलिस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने से रोक दिया। वे सुबह 11 बजे समन्वय भवन पहुंची थी। यहीं पर राशन पात्रता पर्ची पर कार्यशाला थी। इसमें मुख्यमंत्री पहुंचने वाले थे। उनके पहुंचने से पहले ही गैस पीड़ितों को पुलिस ने हटा दिया। बाद में वे गैस राहत मंत्री विश्वास सारंग से मिली और गैस पीड़ित विधवा पेंशन चालू करने की मांग की। जिस पर मंत्री ने बताया कि वे पेंशन चालू कराने का प्रयास कर रहे हैं। ये महिलाएं 11 सितंबर से पेंशन पुनः चालू कराने विरोध दर्ज करवा रही हैं। इन्हें हर महीने 1000 पेंशन मिलती थी जो दिसंबर 2019 से बंद है।

भोपाल गैस पीड़ित निराश्रित पेंशन भोगी संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष बालकृष्ण नामदेव ने बताया कि कार्यशाला में मुख्यमंत्री व मंत्रियों के आने की खबर थी, इसलिए महिलाएं उनसे मिलने के लिए पहुंचीं थीं। हॉल में बैठने के बाद पुलिस ने मुख्यमंत्री व मंत्रियों के पहुंचने से पहले जबरन उठा दिया। वाहनों में भरकर किसी को छोला तो किसी को करोंद छोड़ दिया गया। वृद्ध महिलाओं के साथ झूमाझटकी कर पुलिस ने अभद्रता की है। टीटी नगर डीएसपी उमेश तिवारी ने आरोपों को झूठा बताया। यह भी कहा कि संक्रमण के चलते कार्यशाला में पहुंचने वालों की संख्या पहले से तय थी, इसलिए कुछ लोगों को शांतिपूर्वक हटाया था। किसी के साथ अभद्रता नहीं की।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close