भोपाल(नरि)। आवासीय संगीत गुरुकुल धु्रपद संस्थान के दो गुरुजन पर यौन शोषण का आरोप लगने के बाद संस्थान ने आंतरिक जांच समिति का गठन किया था, लेकिन संस्थान के शिष्यों द्वारा अविश्वास जताने के बाद संस्थान ने अब नई कमेटी बनाई है। गत दो सितंबर को एक विदेशी शिष्या ने फेसबुक के माध्यम से धु्रपद संस्थान के गुरु अखिलेश और स्व. रमाकांत गुंदेचा पर यौन तथा मानसिक शोषण के आरोप लगाए थे। इसके बाद धु्रपद संस्थान की ओर से चार सदस्यीय आंतरिक जांच समिति गठित की गई थी। इस संबंध में धु्रपद संस्थान के चेयरमैन उमाकांत गुंदेचा की ओर से एक पत्र भी जारी किया गया था, जिसमें लिखा था कि समिति जब तक अपनी जांच पूरी नहीं कर लेती अखिलेश ने स्वेच्छा से स्वयं को संस्थान के कार्यों से दूर कर लिया है। हालांकि संस्थान के वर्तमान और पूर्व शिष्यों ने समिति का विरोध करते हुए कहा था कि इस समिति के सभी सदस्य धु्रपद संस्थान से जुड़े लोग हैं, ऐसे में निष्पक्ष जांच की उम्मीद कैसे की जा सकती है? इस विरोध के तहत बड़ी संख्या में शिष्य धु्रपद संस्थान का हॉस्टल छोड़कर अपने घर चले गए हैं। अब धु्रपद संस्थान के सचिव अनंत गुंदेचा के हस्ताक्षर से बुधवार को जो पत्र जारी किया गया है,उसमें धु्रपद संस्थान के दो शिष्यों को भी जांच समिति का सदस्य बनाया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020