भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि! रायसेन जिले के रहने वाले 23 वर्षीय प्रद्युम्न सिंह ने अभिनय व लेखन में सालों काम किया है। विभिन्न कंपनियों में काम करने के दौरान उन्हें महसूस हुआ कि खुद का कुछ करना चाहिए, तो उन्होंने ‘एवीएन चायवाला’ दुकान खोल ली। इस बारे में वे बताते हैं कि इस दुकान का नाम एवीएन चायवाला है। इसमें एवीएन एक बीमारी का नाम है, जिसका पूरा नाम एवैस्कुलर नेक्रोसिस है। ये शरीर के जोड़ों में होने वाली बीमारी है। इस बीमारी की कई वजहें हो सकती हैं, जैसे दुर्घटना, नस का दबना, स्मोकिंग, त्वचा से जुड़ी बीमारी आदि।

प्रद्युम्‍न बताते हैं कि 2015 में उन्हें त्वचा का फंगस हो गया था। इसके बाद दुर्घटना भी हुई थी। संभवत: इसी वजह से उन्हें यह बीमारी हुई। 2016 में इसके बारे में उन्हें पता चला था। तब से लगातार इलाज चल रहा है। प्रद्युम्न बताते हैं कि मुझे हिप जाइन्ट्स की समस्या है। मैं ज्यादा देर खड़े नहीं रह सकता, चलने में परेशानी होती है। वजन नहीं उठा सकता। बार-बार कंपनी से छुट्टी लेकर अस्पताल में एडमिट होना पड़ता है। बहुत रुपये भी खर्च होते हैं, इसलिए सोचा कि खुद का कोई व्यवसाय शुरू करूं। चाय की दुकान खोलने का विचार काफी समय से दिमाग में था, तो इसे खोल लिया। यह दुकान पिपलानी पेट्रोल पंप के पास में भोपाल-रायसेन रोड पर है। इस जगह पर पास में कोई और चाय की दुकान नहीं थी, इसलिए इसे यहां खोला।

मिलते हैं चाय के कई फ्लेवर

एवीएन चायवाला नामक उनके टी स्‍टाल में चाय के कई फ्लेवर मिलते हैं। इसमें सबसे ज्यादा प्रसिद्ध कुल्हड़ एवं मसाला चाय है। इसके अलावा यहां बटरस्कोच, पान, चाकलेट फ्लेवर की चाय भी मिलती है। प्रद्युम्न बताते हैं कि मैं कुछ फ्लेवर्स को मिलाकर एक स्पेशल चाय भी बनाता हूं, जो लोगों को बहुत पसंद आती है। वह कहते हैं कि लोग मुझे चाय की दुकान में भीड़ बढ़ाने के लिए सिगरेट के पैकेट भी दुकान में रखने की सलाह देते हैं, लेकिन मैंने तय किया है कि ये काम मैं बिल्कुल नहीं करूंगा, क्योंकि एवीएन बीमारी होने की एक वजह स्मोकिंग भी होती है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close