भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं ने सोमवार को अपनी 11 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन किया। जिले की लगभग डेढ़ हजार से अधिक कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं ने सुबह 11 बजे कलेक्ट्रेट का घेराव करने पहुंची, जिन्हें वहां मौजूद पुलिस बल ने बाहर ही रोक दिया और कलेक्ट्रेट में अंदर नहीं जाने दिया। वह अपनी मांगों को लेकर शाम चार बजे तक धरना देती रहीं। यह धरना-प्रदर्शन मध्यप्रदेश आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका संघ के नेतृत्व में किया गया था।

संघ के विभाग प्रमुख कमलेश नागपुरे ने बताया कि कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं अपनी 11

सूत्रीय मांगों को लेकर नीलम पार्क में धरना देने की अनुमति चाह रहीं थी, लेकिन उन्हें अनुमति नहीं मिली। इससे वह सोमवार को कलेक्ट्रेट के बाहर पहुंची और धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया था। इस दौरान संघ के महामंत्री मधुकर सांबले, जिला मंत्री हीरा रानवे भी मौजूद थे। उन्हें अनुमति मिल गई है, इससे वह मंगलवार को नीलम पार्क में प्रदर्शन करेंगी।

ये हैं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की प्रमुख मांगें

- मध्यप्रदेश महिला एवं बाल विकास विभाग के तहत सभी को शासकीय कर्मचारी घोषित किया जाए। 1500 रुपये एरियर्स का भुगतान किया जाए।

- राज्य सरकार को केंद्र सरकार से समंवय कर नियमित करने के साथ ही सीधी भर्ती की जाने की नियमावली बनाए।

- सभी को महंगाई भत्ता कम से कम 2500 से 12500 रुपये भुगतान किया जाए।

- पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कराया जाए।

- अन्य किसी कार्य में ड्यूटी न लगाई जाए। विभागीय एप और संपर्क एप को मर्ज करके एक ही एप से कार्य कराया जाए।

- केंद्रों के लिए अधिक भवन उपलब्ध कराए जाएं। किराया बढ़ाकर दिया जाए।

15 दिन का ग्रीष्मकालीन अवकाश दिया जाए।

- पर्यवेक्षक पद पर सीधी भर्ती की जाए, मध्यप्रदेश के बाहर के आवेदन स्वीकार न किए जाएं। सभी केंद्रों को पूर्ण केंद्र बनाया जाए।

- सेवानिवृत्त होने पर क्रमश: एक लाख, 75 हजार रुपये तक राशि प्रदान की जाए।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close