भोपाल (नवदुनिया रिपोर्टर)। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय की श्रृंखला 'सप्ताह का प्रादर्श' के अंतर्गत सोमवार को अप्रैल माह के तीसरे सप्ताह के प्रादर्श के रूप में तंबाकू और चूना रखने का पीतल का एक पात्र चुनेटा को दर्शकों के मध्य प्रदर्शित किया गया है। इसे टीकमगढ़ के सोनी समुदाय से सन 1998 में संकलित किया गया था।

इस संबंध में संग्रहालय के निदेशक डॉ. प्रवीण कुमार मिश्र ने बताया कि ‘सप्ताह के प्रादर्श’ के अंतर्गत संग्रहालय द्वारा पूरे भारत भर से किए गए अपने संकलन को दर्शाने के लिए अपने संकलन की अति उत्कृष्ट कृतियां प्रस्तुत कर रहा है, जिन्हें एक विशिष्ट समुदाय या क्षेत्र के सांस्कृतिक

इतिहास में योगदान के संदर्भ में अद्वितीय माना जाता है। चुनेटा तंबाकू और चूना रखने के लिए पीतल का एक पात्र है। इस बेलनाकार पात्र के दोनों छोरों पर घुंडियुक्त ढक्कन हैं। इस पात्र के आंतरिक हिस्से में दो भाग हैं। बड़े भाग का उपयोग तंबाकू ( जर्दा) रखने के लिए, जबकि छोटे भाग का उपयोग चूना रखने के लिए किया जाता है। दोनों ढक्कनों को पीतल की एक जंजीर से जोड़ा गया है। पूरी बाहरी सतह पर फूलों और पत्तियों के जटिल ज्यामितीय रूपांकन हैं। चुनेटा उपयोगकर्ता के गहरे चाव को व्यक्त करता है। मध्य प्रदेश और पड़ोसी राज्यों में रहने वाले सोनी समुदाय द्वारा इसे तैयार किया गया है। वे मुख्य रूप से आभूषण बनाते हैं और उपयोगकर्ता की मांग पर विशेष रूप से अन्य उपयोगी और कलात्मक वस्तुएं भी बनाते हैं। दर्शक इसे मानव संग्रहालय के इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म पर घर बैठे देख सकते हैं।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags