Bhopal News :भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। छेड़छाड़ और दुर्व्यवहार के आरोप से घिरे हमीदिया अस्पताल के अधीक्षक डा. दीपक मरावी को आख्ािरकार हटना पड़ा है। उन्होंने सोमवार सुबह संभागायुक्त गुलशन बामरा को त्याागपत्र भेज दिया था जिसे शाम चार बजे हुई कालेज की कार्यकारिणी बैठक में स्वीकार कर लिया गया है। उनकी जगह अस्थि रोग विभाग के प्राध्यापक डा.आशीष गोहिया को संयुक्त संचालक एवं अधीक्षक हमीदिया अस्पताल बनाया गया है।

अस्थि रोग विभाग के प्राध्यापक डा. मरावी को पिछले साल नवंबर में दूसरी बार अध्ाीक्षक बनाया गया था। अस्पताल के शिशु रोग विभाग में आग लगने की घटना के बाद डा. लोकेन्द्र दवे को हटाकर उन्हें यह दायित्व सौंपा गया था। पिछले महीने 50 से ज्यादा नर्सों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भोपाल के संभागायुक्त गुलशन बामरा को शिकायत कर कहा था 30 मई को डा. मरावी ने एक नर्स को अपने चेंबर में बुलाकर अनावश्यक बातें की। शिकायत में यह भी आरोप लगाए गए थे कि अधीक्षक नर्साें के चैंजिंग कक्ष में बिना आहट किए घ्ाुस जाते हैं, जिससे नर्सें असहज हो जाती हैं। इन शिकायतों के बाद पांच सदस्यीय टीम ने जांच की थी। इसमें छेड़छाड़ की बात प्रमाणित नहीं हुई थी, लेकिन नर्सों के बयान और जांच में यह सामने आया था कि नर्सों की समस्याएं हल करने की कोई व्यवस्था नहीं है। इसके बाद से डा. मरावी पर अधीक्षक का पद छोड़ने का दबाव था।

अब दो अतिरिक्त अधीक्षक भी होंगे

अस्पताल अधीक्षक को कार्यों में सहयोग करने के लिए पहली बार दो अतिरिक्त अधीक्षक भी बनाए गए हैें। एनाटीमी विभाग की विभागाध्यक्ष डा. वंदना शर्मा और पीएसएम विभाग के सह प्राध्यापक डा. जीवन सिंह मीणा को यह जिम्मेदारी दी गई है। वह अपने मौजूदा कार्यों के साथ ही काम करेंगे। अभी तक दो या तीन सहायक अध्ाीक्षक रहते थे। चिकित्सा अधिकारियों को यह पद दिया जाता था। अब फैकल्टी को अतिरिक्त अधीक्षक बनाया गया है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close