Bhopal News : भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि।भेल कर्मचारियों का पिछले दो वर्ष से पीपी, एसआइपी, इंसेंटिव का भुगतान रोक दिया गया है। इस वर्ष भेल को 437 करोड़ का लाभ होने के बाद भी जब संयुक्त समिति (जेसीएम) की बैठक मे यूनियन के प्रतिनिधियों ने पीपी, एसआइपी के निर्धारण के लिए प्रबंधन से कहा तब भेल प्रबंधन ने इस पर चर्चा करने से ही मना कर दिया। केंद्रीय नेताओं ने जब प्रबंधन पर इसके लिए दबाव बनाना शुरु किया, तब कार्पोरेट प्रबंधन के अधिकारी बैठक समाप्त करके चले गए, जो कि सीधे सीधे भेल के श्रमिक वर्ग व श्रमिक नेताओं का अपमान है। भेल प्रबंधन के इस मजदूर विरोधी व अड़ियल रुख के खिलाफ भेल भोपाल के समस्त कर्मचारी सोमवार व मंगलवार को काला बैच लगाकर प्रबंधन के खिलाफ विरोध दिवस मनाएंगे। मंगलवार को दोपहन तीन बजे भेल द्वार क्रमांक पांच के सामने क्रांति स्थल पर विरोध प्रदर्शन करेंगे। भेक्टू सीटू यूनियन के महामंत्री रंजीत सिंह एवं प्रवक्ता अतुल मालवीय ने संयुक्त रूप से बताया कि छह दिसंबर को बाबा साहब डा भीमराव आंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस (पुण्यतिथि) भी है। छह दिसंबर को क्रांति स्थल पर द्वार सभा शुरु करने से पूर्व बाबा साहब के चित्र पर भेक्टू सीटू यूनियन द्वारा श्रद्धा सुमन अर्पित किया जाएगा। इसके बाद भेल प्रबंधन व केंद्र सरकार के मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

-सोलर प्लांट के कार्य ने पकड़ी रफ्तार

सोलर प्लांट पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अच्छा कदम है। सीएमडी डा नलिन सिंघल के निरीक्षण के बाद से 20 एकड़ क्षेत्र में फैले इस सोलर प्लांट से प्रतिवर्ष 79 लाख किलोवाट बिजली का वार्षिक उत्पादन होगा। बिजली के बिल में प्रतिवर्ष लगभग 5.5 करोड़ रुपये की बचत होगी। 22 करोड़ से बन रहे सोलर प्लांट काम जल्द पूरा किया जाए। इससे टाउनशिप व कारखाने में बिजली उत्पादन में भेल आत्मनिर्भर बनने के लिए पहला कदम रख सके।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close