Bhopal News : भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। ट्रेनों में अधिक दाम पर प्रतिबंधित पानी बोतल बेचने वाले गिरोहों को आरपीएफ ने पकड़ा है। इसमें एक महिला समेत पांच लोग शामिल हैं। इनका मुखिया फरार हो गया है। कार्रवाई भोपाल से निशातपुरा के बीच शनिवार तड़के छह से आठ बजे के बीच की गई है। प्रतिबंधित पानी की बोतल कैची छोला क्षेत्र की ट्रैक किनारे बनी झुग्गियों में छुपाकर रखी थी।

बता दें कि स्टेशन पर व ट्रेनों में यात्रियों को रेल नीर ब्रांड का पानी ही बेचा जाना है, जो कि रेलवे का अपना ब्रांड है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पाेरेशन ( आइआरसीटीसी ) ने भाेपाल, कोटा व जबलपुर रेल मंडल के स्टेशनों व पश्चिम मध्य रेलवे से गुजरने वाली ट्रेनों में इसकी उपलब्धता के लिए मंडीदीप में प्लांट खोला है। यहीं से पानी बोतलों की आपूर्ति होती है। एक लीटर की ये पानी बोतलें 15 रुपये में मिलती हैं। इससे अलग गर्मी के दिनों कई ट्रेनों व स्टेशनों पर लोकल ब्रांड का पानी खपाया जा रहा है। जिसके दाम भी 20 रुपये वसूले जा रहे हैं। ऐसा भोपाल स्टेशन के आसपास भी हो रहा है। शुक्रवार मुंबई जा रही पुष्पक एक्सप्रेस सुबह करीब सात बजे निशातपुरा स्टेशन के पास से गुजर रही थी। ट्रेन की गति बहुत ही धीमी थी। तभी इसमें आठ से दस की संख्या में लोग पीठ पार पानी बोतल लेकर चढ़े और बेचने लगे। इनमें से आरपीएफ ने सुशीला उर्फ चाची, सागर अहिरवार, अजय कुमार उर्फ गोलू, इंदर सिंह व किशन भदौरिया को पकड़ा है। पानी बोतलें भी जब्त की है। फरार बदमाशों को खोजा जा रहा है। इन्हें 500 रुपये से 1000 रुपये जुर्माना लगाकर छोड़ दिया गया है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close