भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। बैरागढ़ विश्रामघाट में अब जनसहयोग से पार्क की तरह हरित क्षेत्र विकसित किया जाएगा। विश्रामघाट के बंद पड़े फव्वारे भी जल्द ही सुधारे जाएंगे। बच्चों के समाधि स्थल के आसपास दूधिया रोशनी के लिए एलइडी लैंप लगाए जा रहे हैं।

विश्रामघाट के कायाकल्प का काम वैसे तो चार साल नगर निगम ने किया था। निगम द्वारा यहां भव्य शेड एवं श्रद्धांजलि सभागृह का निर्माण कराया गया। बैठने के लिए बेंच भी स्थापित की गईं। पीने के पानी की व्यवस्था की गई, लेकिन निगम इसका रखरखाव समुचित ढंग से नहीं कर पा रहा है। अब पं. दीनदयाल उपाध्याय बोरवन क्लब ने विश्रामघाट को बोरवन पार्क की तरह विकसित करने का बीड़ा उठाया है। क्लब के अध्यक्ष जगदीश आसवानी ने बताया कि विश्रामघाट के अंदर ही पार्क की तरह हरित क्षेत्र विकसित किया जा रहा है। यहां 200 से अधिक पौधे रोपे जाएंगे। यहां जमा कचरा एवं मिट्टी हटाने के साथ हरित क्षेत्र विकसित करने का काम शुरू किया जा चुका है।

रात के समय भी नहीं रहेगा अंधेरा

विश्रामघाट में आमतौर पर सूर्यास्त के बाद अंतिम संस्कार नहीं होते, लेकिन पिछले कुछ समय से अंधेरे के कारण यहां असामाजिक तत्वों का जमावड़ा होने लगा था। इसे देखते हुए क्लब ने अब खाली क्षेत्र में एलइडी लैंप लगाने का निर्णय लिया है। यहां अब रात के समय भी अंधेरा नहीं होगा। बच्चों के लिए बने समाधि स्थल के आसपास के क्षेत्र को भी विकसित किया जा रहा है। यहां खुले क्षेत्र में पौधारोपण किया जाएगा।

आसवानी के अनुसार बोरवन पार्क की तरह यहां भी क्लब नियमित रूप से देखरेख करेगा। एक कमेटी बनाकर नगर निगम से समन्वय बनाया जाएगा, ताकि लोगों को असुविधा न हो। उल्लेखनीय है कि बोरवन क्लब ने पांच साल पहले बड़ी झील किनारे स्थित बोरवन पार्क को सुंदर बनाने का काम हाथ में लिया था। क्लब ने यहां पांच साल में करीब 12 हजार पौधे रोपे हैं। यह पार्क अब एक मिनी पर्यटन स्थल बन चुका है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close