भोपाल। नईदुनिया स्टेट ब्यूरो। Bhopal News पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया करीब सात महीने बाद जब प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे तो फूलों की बारिश के साथ उनका स्वागत हुआ। वे सीढ़ियों से तीसरी मंजिल पहुंचे लेकिन उनसे मिलने वालों की धक्का-मुक्की के कारण सभागार का एक गेट टूट गया। उधर, कुछ कांग्रेस नेताओं ने मुलाकात के दौरान सरकार बनाने में उनके योगदान की सराहना की, तो कुछ नेताओं ने राजनीतिक चर्चा की। करीब एक घंटे तक वे पीसीसी में रुके और कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद विदिशा के लिए रवाना हो गए।

ज्योतिरादित्य सिंधिया सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे। उनका काफिला जब लिंक रोड पहुंचा तो ढोल-ढमाकों के बीच स्वागत किया गया। जून 2019 के बाद पहली बार भोपाल आए सिंधिया के स्वागत में करने वालों की भीड़ ने उन्हें इस कदर घेर लिया था कि बमुश्किल गाड़ी का दरवाजा खुल सका। पीसीसी के मुख्य द्वार पर प्रदेश कांग्रेस के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर, प्रशासन प्रभारी महामंत्री राजीव सिंह, पूर्व विधायक व पीसीसी के कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत ने सूत के माला पहनाकर स्वागत किया। पीसीसी के पोर्च से उनके ऊपर गुलाब की पांखुड़ियों की बारिश की गई।

सेवादल को व्यवस्था बनाने में पसीना आया

स्वागत के बाद जब वे तीसरी मंजिल पर पहुंचे तो सेवादल के प्रदेश अध्यक्ष सत्येंद्र यादव और उनकी टीम सभागार व पीसीसी अध्यक्ष के कमरे के प्रवेश द्वार पर व्यवस्था बनाने में जुट गई। मगर सिंधिया से मुलाकात करने वालों के बीच इस कदर धक्का-मुक्की हुई कि सभागार का एक दरवाजा टूट गया। वहीं, पीसीसी अध्यक्ष के कमरे पर लाइन लगाकर सिंधिया से कार्यकर्ताओं की मुलाकात कराने की व्यवस्था में भी धक्का-मुक्की से दरवाजे के टूटने की आशंका बनी तो भीड़ को दूर किया गया।

सरपंच ने कहा गांव में बिजली नहीं

पीसीसी में सिंधिया ने करीब एक घंटे बिताए। ग्वालियर जिले के घाटीगांव की आंतरी पंचायत के सरपंच विनोद सिंह गुर्जर ने सिंधिया को अपने गांव में बिजली नहीं होने की समस्या बताई। अतिथि विद्वानों के अतिथि विद्वान नियमितीकरण संघर्ष मोर्चा के संरक्षक अजबसिंह राजपूत के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल मिला जिसने अपनी मांगों को रखा तो सिंधिया ने कहा कि मुझे आप लोगों की समस्या पता है। मैं जल्द आप लोगों के बीच आऊंगा।

गोयल ने चाय की याद दिलाई

सिंधिया से मिलने के लिए ग्वालियर-चंबल के अलावा प्रदेश के दूसरे क्षेत्रों के कार्यकर्ता व नेता भी पहुंचे। मुलाकात करने वालों में प्रमुख रूप से पूर्व विधायक अजीत सिंह, शैलेंद्र पटेल, बृजेंद्र सिंह चौहान व सईद अहमद सहित पीसीसी कोषाध्यक्ष गोविंद गोयल, मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा, उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता, पीसीसी अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सूलजा, प्रदेश प्रवक्ता जेपी धनोपिया, साजिद अली एडवोकेट, रतलाम की पूर्व जिला अध्यक्ष कोमल धुर्वे आदि शामिल हैं। गोयल ने सिंधिया को अपने यहां चाय पर आने के वादे की याद दिलाई तो अजीत सिंह ने उनके विधानसभा चुनाव में सरकार बनाने के लिए दिए गए योगदान के बारे में बताया।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket