Bhopal News : भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मौत के कुएं की तरह कलियासोत डैम भी खतरनाक जगह बन रहा है। यहां 17 दिन में मगरमच्छ के हमले की दो बड़ी घटनाएं हो चुकी हैं। इनमें से एक युवक तो मौत के मुंह से वापस लौट आया पर दूसरी घटना में एक अन्य युवक को जान गंवानी पड़ी है। यहां पहरा लगाकर इन दोनों घटनाओं को रोका जा सकता था, लेकिन कोई भी न ही वन और न ही जल संसाधन विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। ऐसे में और भी हादसों से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

ये हैं वे दो घटनाएं

8 जूनः युवक अमित जाटव डैम में नहाने गया था। उसका दोस्त गजेंद्र भी साथ था। दोनों पानी के अंदर थे। अमित पर अचानक मगरमच्छ ने हमला कर दिया और वह डूब गया। किसी तरह मगरमच्छ के मुंह से छूटा। इलाज के बाद वह ठीक हो रहा है।

24 जूनः युवक प्रताप रात 11 बजे के बाद डैम में गया था। इसके बाद बाहर नहीं निकला। 25 जून को सुबह उसकी खोजबीन की, तब दोपहर में उसका शव मिला। पीएम रिपोर्ट में बताया गया कि जलीय जीवों ने कई चोटें पहुंचाई हैं। इसमें मगरमच्छ भी शामिल हो सकते हैं, क्योंकि अमित जाटव को मगरमच्छ ने ही पकड़ा था।

12 से ज्यादा मगरमच्छ

कलियासोत डैम में 12 से ज्यादा मगरमच्छ हैं। इन्हें लोगों ने डैम के किनारे गर्मी के दिनों में देखा है। इनकी संख्या अधिक भी हो सकती है। हालांकि कोई भी एजेंसी सर्वे करने के लिए तैयार नहीं है, जिससे इनकी सही संख्या पता नहीं चल पा रही है।

आमने-सामनेः एक दूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे विभाग

हम क्यों रोकें : समरधा रेंज के रेंजर एके झंवर का कहना है कि डैम वन विभाग का नहीं है। यदि होता तो वे डैम पर नजर रखते, आने-जाने वालों को नियंत्रित करते। मछली पकड़ने वालों को रोकते, लेकिन डैम वन विभाग का नहीं है।

जल संसाधन विभाग के एसडीओ आरके जैन का कहना है कि डैम तो हमारा है। नोटिस बोर्ड भी लगा दिए हैं। सुरक्षा के लिए गार्ड मांगे हैं पर मछली पकड़ने का ठेका तो निगम देता है, इसलिए कौन मछली पकड़ रहा है, यह निगम को देखना है। आगे सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करेंगे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना