भोपाल। छेड़छाड़ के मामले में फरार चल रहे दो भाइयों में से एक शनिवार शाम को पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस उसे हनुमानगंज थाने ले आई, लेकिन उसके पीछे-पीछे मनचले की मां अपनी तीन बेटियों के साथ थाने जा धमकी। बेटे का निर्दोष बताते हुए महिलाओं ने पुलिस से झूमाझटकी करना शुरू कर दी। पहरे पर तैनात सिपाही ने महिलाओं को अंदर घुसने से रोकना चाहा तो महिलाओं ने नोंच-खसोट करते हुए सिपाही की वर्दी तक फाड़ दी। अंततः महिला बल बुलाने के बाद करीब दो घंटे तक चला बवाल शांत हुआ। सभी आरोपितों को विभिन्ना धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया।

हनुमानगंज थाना पुलिस के मुताबिक करीब एक माह पहले एक 22 वर्षीय युवती की शिकायत पर फूटा मकबरा निवासी रजनीश कटारिया और उसके छोटे भाई के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज किया गया था। शनिवार को मुखबिर से मिली सूचना पर पुलिस ने रजनीश कटारिया (35) को हिरासत में ले लिया और रात करीब 8 बजे थाने ले आई। उधर, रजनीश के पीछे-पीछे उसकी मां मीरा देवी अपनी 3 बेटियों के साथ थाने पहुंच गईं। उन्होंने अपने बेटे को निर्दोष बताते हुए छोड़ने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया। पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की तो झूमाझटकी करते हुए चारों महिलाओं ने रजनीश को हिरासत से छुड़ाने की कोशिश करना शुरू कर दी। संतरी पहले पर तैनात आरक्षक आरिफ अहमद ने महिलाओं को थाने के अंदर घुसने से रोकने की कोशिश की,तो महिलाओं ने उससे झूमाझटकी करते हुए नोंचना शुरू कर दिया।

इससे सिपाही की वर्दी के बटन टूट गए और गले पर नाखून से खरोंच के निशान बन गए। थाने में महिला बल नहीं होने पर मैत्री मोबाइल और कोहेफिजा थाने से महिला पुलिसकर्मियों को बुलाया गया। इसके बाद चारों महिलाओं को हिरासत में लिया जा सका। पुलिस ने सिपाही की शिकायत पर आरोपित महिलाओं के खिलाफ मारपीट, शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाना,आरोपित को हिरासत से छुड़ाने की कोशिश करने का केस दर्ज कर लिया। उन्हें रविवार को कोर्ट में पेश किया गया। वहां से सभी को जेल भेजने के आदेश हो गए।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket