Bhopal News: संत हिरदाराम नगर, नवदुनिया प्रतिनिधि। विधायक रामेश्वर शर्मा द्वारा हाल ही में दिए गए एक बयान को लेकर राजपूत समाज के लोगों में नाराजगी है। मंगलवार को ग्राम खजूरी थाना सड़क पहुंचकर राजपूत समुदाय के लोगों ने प्रदर्शन किया और विधायक शर्मा के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने की मांग की।

समाज के युवा नेता दोपहर को थाना परिसर में एकत्रित हुए। रामेश्वर के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जोरदार प्रदर्शन किया गया। समाज के लोगों ने कहा कि विधायक शर्मा ने बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की है। यह शर्मनाक है। ऐसे विधायक को तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए। समाज के सोहन मेवाड़ा राहुल, श्याम सिंह आदि ने कहा है कि विधायक शर्मा के बयान से समाज की भावनाएं आहत हुई हैं यदि उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज न किया गया तो राजपूत समुदाय उग्र प्रदर्शन करने के लिए बाध्‍य होगा। उल्लेखनीय है कि रामेश्वर ने सागर में आयोजित हिंदुत्व धर्म संवाद कार्यक्रम में अकबर एवं जोधाबाई के प्रसंग का उल्लेख करते हुए एक टिप्पणी की थी, जिसको लेकर राजपूत समाज के लोगों में नाराजगी है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने भी रामेश्वर की टिप्पणी को आपत्‍तिजनक बताया और कहा कि उन्होंने पहले सिंधी समाज के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी अब राजपूत समाज की भावनाओं को आहत किया है। यह बेहद शर्मनाक बात है। भाजपा संगठन को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाना मकसद नही : रामेश्वर

विधायक रामेश्वर शर्मा ने आपत्तिजनक टिप्पणी के संबंध में कहा है कि राजपूत समाज शुरू से हिंदुत्व का रक्षक रहा है। आदिकाल से आज तक क्षत्रिय वीरों की गाथाएं देश को गौरवान्वित करती रही है। मैं हिंदुत्व के रक्षक महाराणा प्रताप और पृथ्वीराज चौहान की वीर गाथाओं का गौरवगान करता रहा हूँ। इतिहास में भले ही अकबर को महान बताया गया हो, लेकिन मेरे लिए अकबर नहीं महाराणा प्रताप महान हैं। सागर में आयोजित हिंदुत्व धर्म संवाद कार्यक्रम में अकबर एवं जोधा बाई के प्रसंग के वर्णन का उद्देश्य मुगलों की चालाकी और फूट-नीति का उल्लेख करना था। यदि किसी को ठेस पहुंची है तो मैं क्षमा मांगता हूं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local