Aadhar Card Update: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। यदि आप शहर में बीते 10 सालों से एक ही पते पर निवास कर रहे हैं तो अपना आधार कार्ड अपडेट करवा लें। नहीं तो आपके लिए कई तरह की समस्या खड़ी हो सकती हैं। आधार अपडेट नहीं होने से शासन की योजनाओं से लेकर अन्य मूलभूत सुविधाओं के लिए भी परेशान होना पड़ सकता

है। इतना ही नहीं आपके बच्चे का आधार पंजीयन नहीं हुआ है तो वह भी करवा लें। दरअसल जिला कलेक्ट्रेट में मंगलवार को कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर अपर कलेक्टर संदीप केरकेट्टा ने आधार निगरानी कमेटी की समीक्षा की। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज सिंह, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी सुनील साेलंकी, ई-गर्वनेंस प्रबंधक विकास गुप्ता समेत अन्य अधिकारी एवं कमेटी के सदस्य उपस्थित थे।

बैठक में यूआईडीएआई परियोजना प्रबंधक निकेत दीवान ने पीपीटी के माध्यम से आधार पंजीयन अपडेट केन्द्रों की आवश्यकता, आधार केन्द्रों की उपलब्धता सुनिश्चित करने और सभी वर्ग के लिए आधार पंजीयन, बच्चों का आवश्यक बायोमेट्रिक डाटा अपडेट करने की जानकारी दी। इसके अलावा यूआईडीएआई राज्य रजिस्ट्रार और सीएससी ई-गर्वेनेंस के द्वारा जिला, तहसील, ब्लाक स्तर पर आधार सेवा केन्द्रों की स्थापना का अनुश्रवण करने के बारे में विस्तार से बताया। वहीं आधार आधारित जन्म पंजीकरण का क्रियान्वयन के साथ आधार से मोबाइल नंबर लिंक किए जाने के बारे में बताते हुए आधार का विभिन्न योजनाओं में उपयोग आदि महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि ऐसे व्यक्ति जो विगत 10 वर्षों से एक ही पते पर निवासरत है और अपना मोबाइल नंबर पता, आधार कार्ड विगत 10 वर्षों में अपडेट नहीं कराया हैं। तो ऐसे व्यक्तियों को आधार कार्ड अपडेट कराना अनिवार्य है।

बच्चों की जानकारी जुटाकर कराएंगे पंजीयन

अपर कलेक्टर संदीप केरकेट्टा ने समीक्षा करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि आधार पंजीयन से छूटे बच्चों की जानकारी एकत्र कर शत-प्रतिशत पंजीयन कराया जाए। जिले के ग्रामीण और नए क्षेत्रों में आधार पंजीयन केंद्र बनाए जाएं और इन पर विशेष कैंप आयोजित किए जाएं। इनमें आधार पंजीयन करने ओर अपडेशन का कार्य तेजी से किया जाए। आधार केंद्रो की जानकारी यूआइडीएआइ पोर्टल से प्राप्त की जा सकती है।

हजारों बच्चों और किशाेरों के आधार होना है अपडेट

जिले में लगभग 50 हजार से अधिक बच्चों और किशोरों के आधार नंबर अपडेट किया जाना है। यह वह बच्चे हैं जिनकी उम्र पांच साल और 15 साल की उम्र पूरी होने से पहले बने थे। इनके अपडेशन में देरी की वजह दो साल कोरोना काल को बताया जा रहा हैं। इसी वजह से अब एक बार फिर से आधार अपडेशन के लिए अभियान चलाने की तैयारी की गई हैं। इनका आधार कार्ड केंद्र पर ही जाकर अपडेशन किया जा सकेगा।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close