Bhopal News:भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल रेलवे स्टेशन पर कोरोना महामारी के बाद से प्लेटफार्म-छह की ओर चार पहिया पार्किंग बंद है। जिसे रेलवे के अधिकारी चालू नहीं करवा पा रहे हैं। यात्रियों को अपने वाहन पार्क करने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अभी स्टेशन परिसर में एक ही चार पहिया वाहन पार्किंग है। स्टेशन से रोजाना 25 हजार यात्री गुजरते हैं। इनमें से 1200 सौ यात्रियों को पार्किंग की जरुरत पड़ती है। इन्हें मजबूरन प्लेटफार्म-एक की ओर घूमकर आना पड़ता है, तब ये अपना वाहन पार्क कर पा रहे हैं।

स्टेशन पर पार्किंग का हाल बेहाल

दो पहिया पार्किंग- दो पार्किंग है। एक प्लेटफार्म-छह की ओर है, जिसका संचालन रेलवे स्वयं करवा रहा है। दूसरी प्लेटफार्म-एक की ओर है। इसे भी रेलवे स्वयं ही संचालित कर रहा है। दोनों पर खर्च अधिक हो रहा है और आवक कम हो रही है। सूत्रों के मुताबिक रेल कर्मियों का खर्च भी नहीं निकल पा रहा है।

दो पहिया पार्किंग- इनकी संख्या भी दो है। इनमें से प्लेटफार्म-छह की ओर वाली तो बंद चल रही है लेकिन प्लेटफार्म-एक की ओर जो पार्किंग है, उसका भी ठेका नहीं हो पा रहा है। उसका भी संचालन अस्थायी तौर पर ही चल रहा है।

वाहन पार्क करने पर भी हो रहा अतिरिक्त खर्च

भोपाल स्टेशन पर वाहन पार्क करने में भी यात्रियों को अधिक खर्चा आ रहा है। यात्रियों ने बताया कि प्लेटफार्म-छह की ओर से ट्रेन पकड़ने के लिए जाते हैं तो वहां चार पहिया वाहन पार्क करने के कोई इंतजाम नहीं है। वाहन असुरक्षित रहते हैं। कई बार खरोच लग जाती है। असामाजिक तत्वों का जमावड़ा रहता है। यात्री व उनके स्वजन इन असामाजिक तत्वों से वाहनों को बचाने के लिए करीब पौन किलोमीटर का चक्कर लगाकर प्लेटफार्म-एक की ओर वाहन लेकर पहुंचते हैं और वहां खड़ा करने के बाद अपने स्वजनों को स्टेशन पर छोड़ते हैं।

अधिकारियों के दावे- भोपाल रेल मंडल के अधिकारियों ने दावा किया है कि सभी सुविधाओं के संचालन के लिए कोशिशें जारी है। बंद पार्किंग को चालू करा लिया जाएगा। पार्किंग में सीसीटीवी कैमरे लगाकर सुविधाएं बढ़ाई गई है, इसका फायदा यात्रियों को मिल रहा है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close