भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी के उपनगर बैरागढ़ में सिंधी समाज ने सामूहिक विवाह सम्मेलन की तरह इस बार सामूहिक जनेऊ संस्कार सम्मेलन आयोजित करने का निर्णय लिया है। फिजूलखर्ची रोकने और समाज उत्थान के उद्देश्य से हो रहे इस आयोजन की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

सम्मेलन 19 जून को साधु वासवानी स्कूल मैदान पर रखा गया है। साईं संजय देव मसंद के सान्‍निध्‍य में प्रमुख ज्‍योतिर्विद पं. जय कुमार शर्मा 51 बालकों के जनेऊ संस्कार की रस्म अदा कराएंगे। दरबार के सेवादार अशोक वीधानी ने बताया कि दरबार की ओर से बालकों को पूजन सामग्री एवं कपड़े प्रदान किए जाएंगे। सम्मेलन में पांच वर्ष या इससे अधिक आयु के बालकों को जनेऊ पहनाए जाएंगे। दरबार समिति ने इसके पहले भी एक बार सम्मेलन आयोजित किया था। कोरोना संकट के कारण पिछले दो साल से सम्मेलन नहीं हो पा रहा था। इस बार साईं संजय देव मसंद सम्मेलन में शामिल होने के लिए विशेष रूप से संत हिरदाराम नगर आएंगे। 18 जून को संतजी के सम्मान में सुखझील दरबार से शोभायात्रा निकाली जाएगी। उनके प्रवचन भी होंगे। 20 जून को सुखझील दरबार में दीक्षा एवं आशीर्वाद समारोह होगा।

सिंधु सभा ने शुरू की थी परंपरा

बैरागढ़ में सामूहिक जनेऊ संस्कार सम्मेलन की शुरूआत दो दशक पहले भारतीय सिंधु सभा ने थी। ग्राम बेहटा स्थित टेंऊराम आश्रम में हर वर्ष सम्मेलन होता था। सिंधी समाज के गरीब एवं मध्यम वर्ग को इसका इंतजार रहता है। सिंधु सभा इस आयोजन के दौरान बालकों कें स्वजनों के लिए भोजन की व्यवस्था भी करती है। इस बार भी सभा सम्मेलन आयोजित करेगी। शाखा के महासचिव गुरदास रामचंदानी के अनुसार इस बार टेंऊराम आश्रम में संभवत: दिसंबर माह में सम्मेलन आयोजित होगा। इसमें बैरागढ़ के अलावा आसपास के जिलों के बालकों के जनेऊ संस्कार की रस्म अदा की जाएगी। रामचंदानी के अनुसार सिंधु सभा के राष्ट्रीय महामंत्री भगवानदास सबनानी एवं वरिष्ठ पदाधिकारियों से इस संबंध में चर्चा की जाएगी। चर्चा के बाद सम्मेलन की तारीख घोषित की जाएगी।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close