भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोलार इलाके में रहने वाली एक महिला की कनिष्‍ठा (हाथ की सबसे छोटी उंगली) रसोई में मिक्सर चलाते वक्‍त 90 प्रतिशत तक कट गई थी, जिसे जेपी अस्पताल के डाक्टरों ने सर्जरी कर दोबारा जोड़ दिया है। सर्जरी तीन घंटे तक चली। आमतौर पर इस तरह की सर्जरी मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों में होती है। जेपी अस्पताल में कॉलेज आफ फिजिशियंस एंड सर्जन ( सीपीएस) पीजी डिप्लोमा में सर्जरी अंतिम वर्ष में पढ़ाई कर रहे डा. महेंद्र पटेल और डा. रविंद्र पाल सिंह ने सर्जरी की है। उनका साथ एनेस्थीसिया विशेषज्ञ डा. निशा बड़वे ने दिया।

जेपी अस्पताल के अधीक्षक डा. राकेश श्रीवास्तव ने बताया कि कोलार की रहने वाली 35 साल की महिला ने मिक्सर का बटन बंद किए बिना सीधे प्लग लगा दिया। इससे मिक्‍सर चालू हो गया। असावधानीवश उस वक्‍त उनका एक मिक्‍सर की ब्‍लेड पर था। इस कारण मिक्‍सर घूमते ही उसके हाथ की एक उंगुली इसकी चपेट में आ गई और ऊपरी हिस्से से कट गई। स्वजन पहले तो उन्‍हें लेकर तीन-चार निजी अस्पतालों में पहुंचे, लेकिन सभी ने इलाज करने से मना कर दिया। इसके बाद वे उसे जेपी अस्पताल लेकर आए। यहां तीन घंटे में महिला की सर्जरी की गई। जोड़ी गई उंगली में शनिवार को हलचल भी होने लगी है। सर्जरी करने वाली टीम में शामिल डा. रविंद्र पाल सिंह ने कहा कि अगर कोई भी अंग कट जाता है तो उसे साफ पन्नी में रखना चाहिए। इस पन्नी को अलग पॉलिथीन में रखी गई बर्फ के साथ रखकर लाना चाहिए, जिससे कटा हुआ अंग खराब नहीं होता।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local