भोपाल(नवदुनिया रिपोर्टर)। सघन सोसायटी फॉर कल्चर एंड वेलफेयर की ओर से गांधी भवन में नाटक 'कैंप" का मंचन किया गया। रामेश्वर प्रेम लिखित नाटक का निर्देशन आनंद मिश्रा ने किया है। नाटक में कुछ ऐसे लोगों की कहानी है जो बंटवारे के समय अपने घर तक नहीं पहुंच पाते और उन्हें दोनों देशों ने नहीं अपनाया। यह लोग अपने घर जाने की चाहत में उम्मीद लगाकर बैठे हैं, खाने की कोई व्यवस्था नहीं जो मिलता है उससे ही अपना जीवन जी रहे है। इन लोगों में पुरुष और महिला दोनों वर्गों के लोग हैं। पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं को भी परेशानियां उठानी पड़ती हैं। नाटक के माध्यम से दिखाया गया कि लोगों को हर जगह रहने के लिए आजादी क्यों नहीं है? इस नाटक में अवैध युद्ध शरणार्थियों की दुर्दशा और मानसिक परेशानियों का चित्रण है। दो देशों के बीच में फंसे कुछ नि:सहाय चरित्रों की कहानी है जो अपनी पुरानी यादों के सहारे जिंदा है वो भी अपना जीवन आम आदमी की तरह जीना चाहते हैं तथा इस आशा से जीते हैं कि कभी अपने देश लौट सकेंगे। कुछ पात्र चुप रहकर अपनी पुरानी यादों को लगभग भूल चुके हैं, या भूल जाना चाहते हैं। गौरी जो दोनों देशों के सिपाहियों की यौन लिप्सा का शिकार होती है और मौत के आगोश में चली जाती है।

मंच पर कलाकार: मंच पर शिवेंद्र सिंह,प्रफुल्ल तिवारी मुकेश गौर, प्रदीप तिवारी, आमिर खान और मोनिका विश्वकर्मा ने अपने अभिनय से प्रभावित किया। प्रकाश संचालन अजय दाहिया का तथा संगीत सुमुख मिश्र का था।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags