भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। जिला पंचायत भोपाल के मार्गदर्शन में स्व-सहायता समूहों द्वारा अपनी आजीविका को चलाने के लिए गांव-गांव में महिलाओें को आत्म निर्भर बनाने की दिशा में अनुकरणीय पहल की जा रही है। इसी सिलसिले में जिले के एक स्‍व-सहायता समूह की महिलाओं ने त्‍योहारी सीजन को देखते हुए संस्‍कार हैंपर और कचरे की चीजों से कंचन गिफ्ट हैंपर तैयार किए, जिनका दो दिन पूर्व कलेक्‍ट्रेट में विमोचन हुआ था। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने 'संस्कार हैंपर' और 'कंचन गिफ्ट हैंपर' का विमोचन स्व-सहायता समूह की महिला से ही करवाया था। उन्होने कहा कि कचरे का निष्पादन हमारे लिए एक बड़े चैलेंज की तरह उभर रहा है, ऐसे में स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा इससे कंगन व अन्य सामग्री तैयार करना अपने आप में अनूठी पहल है। जिस कचरे के निष्पादन के लिए हमें कोशिशें करनी पड़ती हैं वो इसे आय के स्त्रोत में तब्दील कर रही हैं।करवा चौथ के मौके पर संस्‍कार नाम से तैयार गिफ्ट हैंपर में इस समूह की महिलाओं द्वारा जरी वर्क साड़ी और हस्‍त निर्मित आभूषणों के साथ-साथ आवश्‍यक सौंदर्य सामग्री को शामिल किया गया है। वहीं अनुपयोगी वस्तुओं से इन महिलाओं ने 16 तरह की सौंदर्य सामग्री व ज्वेलरी भी बनाई। इसे 'कंचन हैंपर नाम दिया गया है।

भोपाल के स्‍व-सहायता समूहों की महिलाओं की इस अनुकरणीय पहल को मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सराहते हुए उन्‍हें बधाई दी है। इतना ही नहीं, इस पहल को आगे बढ़ाने के लिए भोपाल जिला प्रशासन को भी मुख्‍यमंत्री की शाबाशी मिली है। मुख्‍यमंत्री ने इस बारे में ट्वीट करते हुए कहा कि स्व-सहायता समूह की इन बहनों की कलात्मकता को मैं नमन करता हूं। अनुपयोगी वस्तुओं को जिस बेहतरीन ढंग से मेरी इन बहनों ने नया स्वरूप प्रदान किया है- वह काबिले तारीफ है। इस कार्य को बढ़ावा देने और सहयोग प्रदान करने के लिए मैं भोपाल जिला प्रशासन को बधाई देता हूं।

बता दें कि इससे पहले स्व-सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा मकर संक्राति, वसंत पंचमी, होली, शिवरात्रि, रक्षा बंधन तथा नवरात्रि, दीपावली और क्रिसमस पर्व पर लगभग 10 हजार गिफ्ट हैम्पर तैयार कर कुल तीन लाख 60 हजार रूपए की आमदनी अर्जित की जा चुकी है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local