भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। बांदीखेड़ी गांव में 25 जून को पंचायत चुनाव के दौरान सरपंच पद के प्रत्याशी के समर्थकों ने मतदान केंद्र में उपद्रव करते हुए मतपत्र फाड़ दिए थे। इस मामले में गुनगा पुलिस ने पीठासीन अधिकारी की शिकायत पर सरपंच पद के उम्मीदवार सहित दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। हालांकि हंगामा करने के आरोप में पुलिस ने उसी दिन दोनों को धारा–151 के तहत गिरफ्तार कर लिया था। वर्तमान में वे जेल में हैं।

गुनगा थाना प्रभारी रमेश राय ने बताया कि ग्राम पंचायक पारदी में सरपंच पद के लिए विशाल जाट भी उम्मीदवार था। 25 जून को शाम को बांदीखेड़ी गांव में मतदान केंद्र पर मतगणना शुरू की गई थी। इसके बाद संभावित विजयी उम्मीदवार के नाम सार्वजनिक हो गए थे। चुनाव में हार होने का पता चलने पर विशाल और उसके समर्थकों ने मतगणना स्थल पर हंगामा करना शुरू कर दिया। इस दौरान विशाल और उसका भाई आशीष जाट मतगणना स्थल में घुस गए और चार मतपत्र छीन लिए थे। मौके पर मौजूद पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया था। उनके खिलाफ प्रतिबंधात्मक धाराओं के तहत केस दर्ज कर अगले दिन उन्हें एसडीएम कोर्ट में पेश किया गया। वहां से उन्हें जेल भेज दिया था।

उधर इस मामले की लिखित शिकायत पीठासीन अधिकारी अरविंद कुमार ने थाने में की थी। जांच के बाद दोनों आरोपितों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, तोड़फोड़ करने एवं मप्र निर्वाचन अपराध अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया है। बता दें कि 25 जून को ही परवलिया सड़क थाना इलाके के चंदूखेड़ी गांव में सरपंच का चुनाव हारने की जानकारी मिलने पर अर्जुन सिंह मीणा ने अपने समर्थकों के साथ मतगणना स्थल पर जमकर हंगामा कर कुछ मतपत्र फाड़ दिए थे। इस मामले में पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close