भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। जिला पंचायत भोपाल की पंचायतों में चुनाव के लिए उत्साहित दो लाख 68 हजार 316 मतदाताओं में से 82.53 प्रतिशत ने मतदान किया। जनपद पंचायत फंदा और बैरसिया विकास खंड के 575 केंद्रों पर सुबह सात बजे से शुरू हुए मतदान रात आठ बजे तक संपन्न हुए। इस तरह जिला पंचायत सदस्य के दस वार्ड, जनपद पंचायत सदस्य के 50 वार्ड, फंदा की 96 और बैरसिया की 126 पंचायतों में सरपंच पद के लिए मतदाताओं ने अपने प्रतिनिधि चुन लिए हैं।

अधिकांश पंचायतों में देर रात ही सरपंच और पंच चुनाव की मतगणना शुरू कर दी गई थी। इससे वहां मौजूद प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों को बूथ के हिसाब से यह पता चल गया था कि वह जीते हैं या फिर हारे हैं। इस वजह से जीतने वाले प्रत्याशियों और उनके समर्थकों ने जश्न मनाना शुरू कर दिया था। हालांकि जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि अधिकृत नतीजों की घोषणा 14 जुलाई को ही की जाएगी।

सभी केंद्रों पर तैनात रहा भारी पुलिस बल

जिले में पंचायत चुनाव हेतु मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। इससे पहले निर्वाचन शाखा द्वारा 575 मतदान केंद्र में से 21 संवेदनशील और 106 संवेदनशील केंद्र चिन्हित किए गए थे, जबकि 248 केंद्र सामान्य थे। सामान्य केंद्रों पर तीन से चार पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे, जबकि संवेदनशील और अंतिसंवेदनशील केंद्रों पर सुरक्षा की दृष्टि से अतिरिक्त बल भी तैनात किया गया था। पुलिस के पहरे की वजह से प्रत्याशी एवं उनके समर्थक केंद्र से दूर ही नजर आए। जहां भी उन्होंने मतदान केंद्र के अंदर तक पहुंचने का प्रयास किया तो उनको पुलिस ने खदेड़ दिया।

ग्राम पंचायत ईंटखेड़ी में बुजुर्ग महिला हल्‍की बाई अपने परिजनों के साथ पहुंचीं और मतदान का दायित्‍व निभाया। उन्‍होंने कहा कि सभी को मतदान जरूर करना चाहिए, तभी अच्‍छे प्रतिनिधि चुनकर आएंगे।

वहीं मुमताज नामक एक महिला मतदाता सीधे अस्‍पताल से मतदान करने केंंद्र पर पहुंची। उसके चेहरे पर भी एक जिम्‍मेदार नागरिक के तौर पर चुनाव में अपना फर्ज निभाने की खुशी साफ नजर आई।

इससे पहले शुक्रवार को ही मतदान को लेकर जिला प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर ली थीं। शुक्रवार शाम तक सभी 575 मतदान केंद्रों पर सामग्री लेकर दल पहुंच चुके थे। यहां पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। साथ ही वर्षा को देखते हुए टेंट लगाए गए हैं। बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था भी की गई है।

आठ घंटे में 50 से अधिक केंद्रों पर पहुंचे कलेक्टर

मतदान की प्रक्रिया बेहतर और शांति से हो। इसका जिम्मा खुद कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अविनाश लवानिया ने अपने कंधों पर ले लिया था। उन्होंने आठ घंटे सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक ग्राम पंचायतों में मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ऋतुराज सिंह और अन्य अधिकारियों सहित फंदा विकास खंड के नीलबड़, कलखेड़ा, नाथू बरखेड़ा, मुगालिया छाप, खजूरी सड़क पहुंचकर केंद्रों का निरीक्षण किया। फिर वह बैरसिया विकास खंड के कुठार, दिल्लौद, हर्राखेड़ा, ईंटखेड़ी, करोंदिया, गुनगा, रतुआ, अचारपुरा सहित लगभग 50 मतदान केंद्रों पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। वह लगातार सभी रिटर्निंग अधिकारियों से मतदान की जानकारी लेते हुए समीक्षा कर रहे थे।

ग्राम पंचायत रतुआ रतनपुर में मतदान के लिए मैदान में बैठकर इंतजार करती महिला और पुरुष मतदाता

तीन लाख 25 हजार 106 मतदाताओं में से दो लाख 68 हजार 316 ने किया मतदान

विकास खंड - कुल मतदाता - मतदान किया - महिला - पुरुष - प्रतिशत

बैरसिया - 165519 - 140342 - 66790 - 73552 - 84.79

फंदा - 159587 - 127974 - 60776 - 67197 - 80.84

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close