भोपाल। एक माह पहले परवलिया इलाके में गैस कटर से एटीएम काटकर कैश उड़ाने की कोशिश के मामले में पुलिस को छिंदवाड़ा पुलिस के हत्थे चढ़ी मेवाती गैंग का हाथ होने की आशंका है। हरियाणा के इस गिरोह ने छिंदवाड़ा में एटीएम ब्रेक कर 67 लाख रुपए चुरा लिए थे। फिलहाल अपराधियों से छिंदावाड़ा पुलिस पूछताछ कर रही है।

1-2 जुलाई की दरमियानी रात बदमाशों ने परवलिया हाईवे स्थित एचपी पेट्रोल पंप के पास स्थित एसबीआई के एटीएम को निशाना बनाया था। उन्होंने अपनी पहचान छिपाने के लिए बूथ में लगे सीसीटीवी कैमरे पर काले रंग का स्प्रे किया था। इसके बाद छोटे ऑक्सीजन, कुकिंग गैस सिलेंडर, गैस कटर की मदद से एटीएम काटने लगे। लेकिन रात 3ः45 बजे गश्त कर रही पुलिस बूथ की शटर के आस-पास धुआं उठता देख मौके पर पहुंच गई थी। पुलिस को देखते ही अपराधी हवा में फायरिंग कर खेतों के रास्ते भाग गए थे। उस दौरान एटीएम में 13 लाख 78 हजार रुपए नकद रखे थे, जो लुटने से बच गए।

पुलिस तभी से आरोपितों की तलाश कर रही है। एसपी नार्थ शैलेंद्रसिंह चौहान ने बताया कि इस मामले की खोजबीन के दौरान मेवाती गैंग का हाथ होने का सुराग लगा था। इस बीच छिंदवाड़ा में भी पिछले दिनों ठीक इसी तर्ज पर एटीएम काटकर कैश चुराने की वारदातें हुई थी। छिंदवाड़ा पुलिस ने हरियाणा के कुछ आरोपितों को वहां हुई वारदात के मामले में गिरफ्तार कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है। संभवतः परवलिया में हुई वारादत में भी उसी गिरोह का हाथ है। पुलिस टीम इस मामले में पूछताछ करने छिंदवाड़ा जाएगी।