Bhopal Railway News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। अब तेजस एक्सप्रेस जैसी प्रसिद्ध पर्यटक ट्रेनों तक पहुचंाने वाली फ्लाइट और सामान्य ट्रेनों को खोजना आसान हो गया है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पारेशन (आइआरसीटीसी) ने अपनी टूरिज्म वेबसाइट पर दो लिंक साझा की हैं। एक लिंक फ्लाइट बुक कराने में मदद करती है और दूसरी लिंक सामान्य ट्रेनों में बर्थ बुकिंग कराने में। आइआरसीटीसी के मुंबई वेस्ट जोन ने यह प्रयोग शुरू किया है। जिसे जल्द ही अन्य जोन भी अपना सकते हैं।

दरअसल, पर्यटक ट्रेनें चुनिंदा रेल मार्गों और स्टेशनों से ही गुजर रही है। इसमें तेजस एक्सप्रेस जैसी पर्यटक ट्रेन भी शामिल है जो कि मुंबई सेंट्रल से अहमदाबाद तक चलती है। इस ट्रेन में मप्र समेत आसपास के राज्यों के पर्यटक भी केवड़िया, अहमदाबाद, हैरिटेज अहमदाबाद और अंबाजी मंदिर की यात्रा करना चाहते हैं लेकिन इसके बोर्डिंग स्टेशन तक पहुंचने के लिए उन्हें परेशान होना पड़ता था, क्योंकि यह ट्रेन मुंबई सेंट्रल से ही मिलती है। पर्यटक बार-बार इस ट्रेन तक पहुंचने के फ्लाइट व सामान्य ट्रेनों की जानकारी मांग रहे थे। आइआरसीटीसी के अधिकारियों ने बताया कि ऐसे यात्रियों को मोबाइल और वाट्सएप पर मदद करते थे जो कि काफी कठिन था। अब पर्यटक ट्रेनों के लिए लिंक साझा कर दी है। पर्यटक इनका उपयोग करके संबंधित पर्यटक ट्रेन व उसके बोर्डिंग स्टेशन तक पहुंच सकेंगे।

यहां मिलेगी लिंक

आइआरसीटीसी मुंबई वेस्ट जोन के अधिकारियों ने बताया कि आइआरसीटीसी की टूरिज्म वेबसाइट और एप पर पर्यटकों के लिए दिए गए पैकेज चुनना होगा। इसके बाद बुकिंग और डिटेल वाले दो विकल्प खुलेंगे। इसमें से डिटेल वाले विकल्प को खोलने पर ये लिंक मिलेगी। पहली लिंक फ्लाइट बुक कराने में मदद करेगी। दूसरी लिंक सामान्य ट्रेनों में बर्थ बुक कराने में मदद करेगी। इस तरह पर्यटक आसानी से उस स्टेशन तक पहुंच रहे हैं जहां से पर्यटक ट्रेन चल रही है।

दोनों डोज लगवाने पर ही कर सकेंगे सफर, जांच रिपोर्ट की जरूरत नहीं

अभी पर्यटक ट्रेनों में आरटीपीसीआर जांच के बाद ही सफर करने की अनुमति है। 26 नवंबर से दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से असम, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा समेत पांच राज्यों के लिए चलाई जा रही पर्यटन ट्रेन में कोरोना के दोनों टीका लगवाने वाले पर्यटकों को सफर की अनुमति दी जाएगी। यह व्यवस्था सभी पर्यटन ट्रेनों के लिए लागू की जा सकती है। हालांकि महाराष्ट्र के पर्यटन स्थलों का भ्रमण कराने वाली ट्रेनों में इस व्यवस्था को पहले से प्रोत्साहित किया जा रहा है। वहां दोनों डोज लगवाने वाले पर्यटकों से आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट नहीं मांगी जा रही है।

वर्जन

मुंबई वेस्ट जोन ने दो लिंक साझा की हैं, जो पर्यटकों को मदद कर रही है। अभी आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट मंगा रहे हैं। आने वाले समय में टीके के दोनों डोज लगवाने वालों को ही सफर की अनुमति होगी।

- आनंद झा, मुख्य प्रवक्ता आइआरसीटीसी, नई दिल्ली

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local