Bhopal Railway news: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। हर साल बारिश के सीजन मं रेल अंडरपासों में पानी जमा होने की समस्‍या आती है। इस वजह से सड़क आवागमन बंद हो जाता है और राहगीर परेशान होते हैं। ऐसे अंडरपास में करोंद भी शामिल है। रेलवे ने करोंद, रतनपुर, इटायाकला, नूरगंज अंडरपास पर बिजली से चलने वाले ऑटोमेटिक पंप लगा दिए हैं। ये पंप सेंसर आधारित तकनीक पर काम कर रहे हैं, जो अंडरपास में खतरे के निशान से अधिक पानी जमा होने पर स्वत: चालू हो जाते हैं और पानी को उलीच देते हैं। इस व्यवस्था से उक्त अंडरपासों में जमा होने वाले पानी को निकाला जा रहा है।

हबीबगंज में जल्द बनेगा अंडरपास

रेलवे एक रेल अंडरपास और बनाएगा। यह हबीबगंज क्षेत्र में बनाया जा रहा है। इसका काम डेढ़ साल पहले चालू भी कर दिया था, जो कि नगर निगम की लेटलतीफ कार्यशैली व कोरोना संक्रमण की वजह से अटक गया है। अब बारिश हो रही है, इसलिए फिलहाल काम चालू करा पाना मुश्किल है। रेल अधिकारियों का कहना है कि बारिश खत्म होते ही काम चालू कराएंगे।

दो जगह जल्द चालू कराए जाएंगे पंप

मंडीदीप व औबेदुल्लागंज रेल अंडरपास में जल्द ही स्वचालित मोटर पंप लगाए जाएंगे। इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि दोनों रेल अंडरपास में पानी जमा हो रहा है, इसलिए पंप लगाने की ज्यादा जरूरत महसूस हो रही है।

हबीबगंज नाका क्षेत्र में अभी एक रेल पुलिया है, जहां से लोग ट्रैक के नीचे से होकर एक से दूसरी तरफ आना-जाना करते हैं। बारिश में यहां पानी भर जाता है और आवागमन कुछ समय के लिए बंद करना पड़ता है। चौबीस घंटे में लाखों लोग परेशान होते हैं। मंडीदीप और औबेदुल्लागंज में भी लोगों का दबाव बढ़ा है। दोनों जगह के अंडरपास में पानी जमा होने के कारण लोग चक्कर लगाकर ट्रैक के एक से दूसरी की तरफ आना-जाना करते हैं। भोपाल रेल मंडल के डीआरएम उदय बोरवणकर ने बताया कि मंडीदीप और औबेदुल्लागंज रेल अंडरपास में जल्द ही स्वचालित पंप लगाने की कार्रवाई की जा रही है, जिसके बाद बारिश का पानी स्वत: खाली हो जाएगा।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local