भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है, लेकिन क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) में लोगों की भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है। रोजाना आरटीओ में दो हजार से अधिक लोग लर्निंग, परमानेंट, वाहन ट्रांसफर, एनओसी, वाहनों की फिटनेस कराने, पंजीयन कार्ड लेने, परमिट सहित अन्य आरटीओ संबंधी कार्य कराने के लिए पहुंच रहे हैं। लोगों की भीड़ होने से सुरक्षित शारीरिक दूरी नहीं बना पा रही है। इतना नहीं आरटीओ के अधिकारी व कर्मचारी अलग-अलग कार्यों के लिए आने वाले आवेदकों से सुरक्षित शारीरिक दूरी नहीं बनवा पा रहे हैं। रोजाना लर्निंग, परमानेंट ड्राइविंग शाखा के बाहर लोग खड़े हो जाते हैं। दो गज की दूरी बनाने का पालन नहीं करते हैं। अधिकारी व कर्मचारी लोगों से कुछ नहीं कहते। यदि आगामी दिनों में आरटीओ में सुरक्षित शारीरिक दूरी व मास्क लगाने और सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं कराया गया तो कोरोना का खतरा बढ़ सकता है। पिछले महीने आरटीओ में स्मार्टचिप कंपनी का एक कर्मचारी कोरोना पाजीटिव हुआ था। इसके बाद से स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आरटीओ पहुंच कर सभी अधिकारी व कर्मचारियों की कोरोना की जांच कराई थी, हालांकि कोई कोरोना पाजीटिव नहीं मिला था। अब यदि बढ़ती से तय गाइडलाइन का पालन नहीं कराया गया तो कोरोना फैल सकता है। आरटीओ के प्रवेश द्वार से लेकर सभी खिड़कियों पर लोगों की कतार लगी रहती है। इस संबंध में आरटीओ संजय तिवारी ने बताया कि दफ्तर में सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। आने जाने वाले लोगों को निश्शुल्क मास्क भी बांटे जाते हैं। खड़े होने के लिए दो गज की दूरी के बाद निशान चिन्हित किए गए हैं। हाथों को सैनिटाइज करने के बाद ही लाइसेंस बनाने से पहले फ्रिंगर प्रिंट लिए जाते हैं। कोरोना से बचाव की पूरी सावधानी बरती जा रही है।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस