भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। महिलाएं चाहें तो क्या कुछ नहीं कर सकतीं। कई लोगों को लगता है कि शादी के बाद महिलाओं का जीवन सिर्फ परिवार के इर्द-गिर्द ही घूमता है और उनका स्वयं का अस्तित्व खत्म हो जाता है। ऐसे ही लोगों को जवाब दिया है भोपाल की शिवांगी पांडे ने। भोपाल की रहने वाली शिवांगी पांडे ने ग्लैमोन मिसेज इंडिया 2022 का ताज अपने नाम कर लिया है। ऐसा कर के उन्होंने साबित किया है कि एक स्त्री का अस्तित्व एक समर्पित गृहिणी, एक मां, एक बेटी, एक बहू के रूप में ही नहीं है, बल्‍कि वह आधुनिक युग में पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर चलने की ताकत रखती है। शादी के बाद भी अपनी अलग पहचान बना सकती है। बता दें कि शिवांगी पांडे ने एक पत्नी, एक मां होने के साथ ही अपने जीवन को एक रंगमंच देने का प्रयास किया और बेहतरीन सफलता प्राप्त की।

शिवांगी के पति राजेश हेनरी मध्यप्रदेश शासन के आबकारी विभाग में अपर आबकारी आयुक्त के पद पर पदस्थ हैं, जिन्होंने शिवांगी के इस मार्ग को सुगमता प्रदान की। फुकेत, थाइलैंड में आयोजित प्रतियोगिता ग्लैमोन मिसेज इंडिया 2022 के ताज से नवाजी जाने वाले शिवांगी का अपना सफर एक सफल इंटीरियर डिजाइनर, ड्रेस डिजाइनर, रिलेशनशिप काउंसलर, गीत लेखक, इवेंट प्लानर के रूप में जारी है। उन्‍होंने फरवरी 2022 में ग्‍लैमोन कंपनी द्वारा मिसेज इंडिया प्रतियोगिता के ऑडिशन में भाग लिया, जहां पूरे भारत के 60 से ज्यादा प्रतियोगियों के बीच फाइनल राउंड के लिए क्वालीफाई किया। अंत में 20 सितंबर को थाईलैंड के फुकेत में उन्‍हें मिसेस इंडिया का ताज पहनाया गया। शिवांगी का उदाहरण उन लाखों करोड़ों महिलाओं के जीवन में सकारात्मक प्रभाव लाने के लिए काफी है, जो अपनी अंतर्निहित क्षमता से अवगत नहीं हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close