भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि अच्छी सोच और बेहतर स्वास्थ्य के लिए जीवन में खेल बहुत जरूरी है। वे शुक्रवार को राजभवन में खेली जा रही प्रतियोगिता के समापन और पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रही थी। इस अवसर पर खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया एवं राज्यपाल के प्रमुख सचिव डीपी आहूजा उपस्थित थे।

राज्यपाल ने कहा कि खेल में हार जीत के परिणाम नहीं, भाग लेना मायने रखता है। उन्होंने कहा कि खेल व्यक्तियों को आपस में जोड़ता है। उन्होंने 50 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं की विशेष सराहना करते हुए कहा कि उनके प्रदर्शन से सीख मिलती है कि कभी भी कोई भी काम सफलता पूर्वक किया जा सकता है।

प्रतियोगिता में दिखी उत्कृष्ट खेल भावना

राज्यपाल ने परिसहाय सुभाष आनंद द्वारा खेल प्रतियोगिता में भाग लेने और खेल भावना के प्रदर्शन के प्रसंग की सराहना करते हुए खेल और खेल भावना की महत्ता को बताया। उन्होंने बताया राजभवन में पदस्थ एडीसी सुभाष आनंद को दौड़ में वेटर के पद पर कार्यरत रिंकू ने नंगे पैर दौड़ कर पीछे छोड़ दिया था। रिंकू की प्रतिभा को देख श्री आनंद ने उसे रनिंग शूज भेंट कर, सच्ची खेल भावना का प्रदर्शन किया इससे प्रेरणा लेनी चाहिए।

राजभवन में होगा मलखंब का प्रशिक्षण

समापन समारोह में टीटी नगर में प्रशिक्षणरत खिलाड़ियों ने मलखंब का शानदार प्रदर्शन किया। राज्यपाल ने खिलाड़ियों की गति, शक्ति और चपलता की सराहना करते हुए राजभवन में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कराने और इस मलखंब का कोच राजभवन को देने के लिए कहा है। इस समारोह का आकर्षण राहुल पाल, प्रणीत यादव, सागर चौहान, उत्कर्ष पांडे और युवराज राव का हनुमान चालीसा पर मलखंब का प्रदर्शन था । उन्होंने जिस चपलता और चुस्ती के साथ प्रदर्शन किया उसने राज्यपाल, खेल मंत्री और उपस्थित दर्शकों को चकित कर दिया।

राज्यपाल की पहल अनुकरणीय

खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि राजनैतिक जीवन में उन्हें पहली बार राजभवन द्वारा आयोजित खेल प्रतियोगिताओं में शामिल होने का अभूतपूर्व अवसर मिला। राज्यपाल की यह पहल सराहनीय और अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि खेलों में हिस्सा लेने से राजभवन में रहने वाले अधिकारी-कर्मचारी और उनके परिजनों में जीवन के प्रति उल्लास, ऊर्जा और उमंग बनी रहेगी।

खिलाडी हुए प्रशिक्षित

एक माह चली इस खेल प्रतियोगिता में 326 प्रतिभगियों ने हिस्सा लिया जिसमें 121 महिलायें और 205 पुरूष थे। लगभग 14 प्रतियोगिताओं में पाँच से 60 वर्ष उम्र के प्रतिभागियों ने फ्रंट रोल दौड़, रस्साकशी, नींबू-चम्मच दौड़, म्यूजिकल चेयर रेस, जलेबी जम्प, गोला फेक, बिलियर्डस जैसे खेलों में भाग लेकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में राज्यपाल ने ओलंपियन समीर दाद, जीएल यादव, हर्षिता तोमर और लतिका भंडारी को सम्मानित किया।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags