भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। वन विहार नेशनल पार्क में रात्रिकालीन सफारी शुरू करने से पहले मप्र सरकार ने नियमों में बदलाव किए है। यह बदलाव मप्र वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम 1974 में किया है। अब पार्क प्रबंधन को केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) से सफारी केे लिए अनुमति नहीं लेनी होगी। साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा नियमों में किए गए बदलाव के बाद दूसरे राष्ट्रीय उद्यानों में भी रात्रिकालीन सफारी की शुरूआत की जा सकेगी।

बता दें कि वन विहार नेशनल पार्क में 4 मार्च को रात्रिकालीन सफारी शुरू की है। तभी से वन्यप्राणी विशेषज्ञ सवाल उठा रहे थे कि सीजेडए से अनमुति के बिना पार्क में रात्रिकालीन सफारी शुरू की है। यह ठीक नहीं है। रात्रिकालीन भ्रमण से वन्यप्राणियों में दखल बढ़ेगा। इस संबंध में मप्र वन्यप्राणी विभाग के चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन आलोक कुमार का कहना है कि वन विहार नेशनल पार्क पूर्व से राष्ट्रीय उद्यान है। बाद में उसे चिड़ियाघर के रूप में मान्यता मिली है। पार्क के अंदर जिन मार्गों पर रात्रिकालीन सफारी शुरू कराई है वह चिड़ियाघर से बिल्कुल अलग है। इस वजह से चिड़ियाघर से अनुमति लेने की जरूरत नहीं है। सफारी का मार्ग उद्यान वाले क्षेत्रों से होकर ही गुजरता है।

वन विहार नेशनल पार्क का नाम दुनिया में हो- मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार शाम को परिवार के साथ वन विहार नेशनल पार्क गए थे। उन्होंने रात्रिकालीन सफारी की। उनके साथ वन विभाग के अधिकारियों का दल था। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वन विहार भोपाल एक बेहतर स्थान है। यहां व्यवस्थाएं बेहतर बनाकर इसकी ख्याति बढ़ाई जाना चाहिए। ऐसे कार्य हों कि वन विहार का दुनिया में नाम हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि वन्यप्राणी प्रकृति का हिस्सा हैं। मनुष्य के साथ वन्यप्राणियों का अस्तित्व भी उतना ही महत्वपूर्ण है। बता दें कि गुरुवार को पार्क में रात्रि सफारी की शुरूआत की गई थी। सफारी शुरू करने से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री फरवरी माह में पार्क पहुंचे थे, तब उन्होंने रात्रिकालीन सफारी शुरू करने के निर्देश दिए थे।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags