भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। वर्तमान में मध्य प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाली कोई मौसम प्रणाली सक्रिय नहीं है। उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी का सिलसिला भी थम गया है। उधर उत्तर भारत की तरफ से आ रही हवाएं मध्य प्रदेश में आने के बाद उत्तर-पूर्वी हो रही हैं। इस वजह से पिछले तीन दिनों से रात-दिन के तापमान में धीरे-धीरे कुछ बढ़ोतरी होने लगी है। उधर गुरूवार को मध्य प्रदेश में सबसे कम सात डिग्री सेल्सियस तापमान नौगांव में दर्ज किया गया। राजधानी का न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। हिल स्टेशन पचमढ़ी में न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश के सभी संभागों के जिलों में मौसम मुख्यत: शुष्क रहा। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में मध्य प्रदेश के मौसम को प्रभावित करने वाली कोई मौसम प्रणाली सक्रिय नहीं है। वर्तमान में हवा का रुख भी उत्तरी एवं उत्तर-पूर्वी बना हुआ है। उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में फिलहाल बर्फबारी होना बंद हो गई है। वहां से आ रही सर्द उत्तरी हवाएं मध्य प्रदेश में आकर उत्तर-पूर्वी हो जा रही है। इस वजह से भी तापमान में मामूली बढ़ोतरी होने लगी है। इसी क्रम में गुरूवार को शहर का न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस कम रहा। यह बुधवार के न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस से 0.4 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान 28.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो सामान्य रहा था। साथ ही मंगलवार के अधिकतम तापमान 27 की तुलना में 1.2 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। गुरूवार को भी अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रहने की संभावना है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close