भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। अलग–अलग स्थानों पर तीन मौसम प्रणालियां सक्रिय हैं। मानसून ट्रफ भी गुना, सागर से होकर गुजर रहा है। इसके चलते राजधानी सहित मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों में रुक-रुककर वर्षा होने का सिलसिला बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शनिवार को शाम तक राजधानी में तेज बौछारें पड़ने की संभावना है। उधर पिछले 24 घंटों के दौरान शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक इंदौर में 108.2, भोपाल में 37.8, शिवपुरी में 23, उज्जैन में 18, गुना में 11, धार में 9.7, नर्मदापुरम में 7.6, बैतूल में 6.2, खंडवा में 6.2, रीवा में 4.2, सागर में 3.4, नरसिंहपुर में दो, रायसेन में 1.8, दमोह में एक, मलाजखंड में 0.2 मिलीमीटर वर्षा हुर्इ।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार-शनिवार की रात शहर में तेज बौछारें पड़ीं। हालांकि शनिवार को सुबह बादल छंटने से कुछ समय के लिए धूप निकली। इस वजह से उमस महसूस हुर्इ। शनिवार को दोपहर के बाद फिर रुक–रुककर बौछारें पड़ने के आसार हैं। उधर राजधानी का न्यूनतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य रहा। साथ ही यह शुक्रवार के न्यूनतम तापमान 24.0 डिग्री सेल्सियस की तुलना में 0.6 डिग्री सेल्सियस कम रहा। शुक्रवार को शहर का अधिकतम तापमान 33.7 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। साथ ही यह गुरुवार के अधिकतम तापमान 31.8 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 1.9 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा।

ये मौसम प्रणालियां हैं सक्रिय

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में मानसून ट्रफ बाड़मेर, कोटा, गुना, सागर, रायपुर, भुवनेश्वर से होकर बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। आंध्र प्रदेश के तट पर हवा के ऊपरी भाग में एक शक्तिशाली चक्रवात बना हुआ है। मध्य राजस्थान पर भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। आंध्र के तट पर बने चक्रवात के रविवार को कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित होने की संभावना है। इन मौसम प्रणालियों के असर से शनिवार को भोपाल, जबलपुर, नर्मदापुरम, इंदौर, उज्जैन संभागों के जिलों में रुक-रुककर वर्षा होने का सिलसिला बना रहने की संभावना है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close