Rain in Bhopal: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से लगातार आ रही नमी के कारण राजधानी में पिछले एक हफ्ते से बादल छाए हुए हैं। धूप नहीं निकलने से अधिकतम तापमान भी सामान्य से कम बना हुआ है। इससे वातावरण में ठंडक बरकरार है। साथ ही रुक-रुककर फुहारें पड़ रही हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक अभी दो-तीन दिन तक इस तरह का मौसम बना रहने के आसार हैं। रविवार रात को तेज बौछारें पड़ने की भी संभावना है। उधर हरियाणा और उत्तर प्रदेश पर बने वेदर सिस्टम के कारण रीवा, ग्वालियर, चंबल, उज्जैन, सागर संभाग के जिलों में अच्छी बारिश का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में पिछले 24 घंटे के दौरान रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक रीवा में 135.4, सतना में 76.9, श्योपुरकलां में 73, सीधी में 71.2, खजुराहो में 29.6, गुना में 28.1, पचमढ़ी में 21, सागर में 20.2, नौगांव में 14.4, रायसेन में 6.2, दमोह, टीकमगढ़ में छह-छह, इंदौर में 5.2, भोपाल में 4.6, जबलपुर में 3.3, रतलाम में तीन, मंडला में दो, होशंगाबाद में 1.6, ग्वालियर में एक और उज्जैन में एक मिलीमीटर बरसात हुई।

उप्र से होकर गुजर रहा मानसून ट्रफ

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में गहरा कम दबाव का क्षेत्र उत्तर प्रदेश के मध्य में सक्रिय है। हरियाणा और उसके आसपास एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अतिरिक्त मानसून ट्रफ भी उत्तरप्रदेश से होकर गुजर रहा है। हवा का रुख भी लगातार दक्षिण-पश्चिमी बना हुआ है। इस वजह से बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से लगातार नमी आ रही है। इससे बारिश हो रही है। शुक्ला के मुताबिक वेदर सिस्टम के उत्तर प्रदेश में सक्रिय रहने से इस प्रदेश से लगे मप्र के जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा भी हो रही है। राजधानी में वातावरण में बड़े पैमाने पर आर्द्रता मौजूद रहने के कारण रिमझिम फुहारें पड़ रही हैं। हालांकि रविवार को रात के समय राजधानी में भी बौछारें पड़ने की संभावना बन रही है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local