भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने और पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर प्रेरित चक्रवात के बनने से दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी होने लगी है। उधर एक और पश्चिमी विक्षोभ के सात दिसंबर को उत्तर भारत पहुंचने की संभावना है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक लगातार पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण फिलहाल न्यूनतम तापमान में गिरावट के आसार कम ही हैं। मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर शुक्रवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। भोपाल में अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री दर्ज हुआ। जो सामान्य से चार डिग्री अधिक रहा। साथ ही गुरुवार के अधिकतम तापमान (30.2 डिग्री) के मुकाबले 1.3 डिग्री अधिक रहा। इसी तरह न्यूनतम तापमान 11.5 डिग्री दर्ज हुआ। यह सामान्य से एक डिग्री कम रहा, लेकिन गुरुवार के न्यूनतम तापमान (10.6 डिग्री) के मुकाबले 0.9 डिग्री अधिक रहा। इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में भी दिन और रात के तापमान में तेजी आई है।

क्यों हो रहा है ऐसा : वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि एक पश्चिमी विक्षोभ अफगानिस्तान और उत्तर भारत के बीच सक्रिय है। इसके प्रभाव से मध्य पाकिस्तान और उससे लगे पश्चिमी राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बन गया है। इसके अतिरिक्त विदर्भ और उससे लगे मप्र पर एक प्रति चक्रवात बना हुआ है। इससे हवा का रुख बदलने लगा है। शुक्रवार को दोपहर में करीब 15 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से दक्षिणी हवाएं चली। इससे दिन के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज हुई। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ के सात दिसंबर को उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है। इस वजह से अभी पांच दिन तक न्यूनतम तापमान में विशेष गिरावट होने के आसार नहीं है। पश्चिमी विक्षोभ के आगे बढ़ने के बाद हवा का रुख उत्तरी होने पर एक बार फिर ठंड के तेवर तीखे होने लगेंगे।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags