भोपाल। इस साल मानसून प्रदेश पर कुछ ज्यादा मेहरबान नजर आ रहा है। आधा अक्टूबर बीतने को है और प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में अभी भी बारिश हो रही है। हालांकि कुछ इलाकों से मानसून की विदाई भी शुरू हो चुकी है। मौसम विज्ञानियों ने शुक्रवार को भोपाल, उज्जैन संभाग के कुछ हिस्सों से मानसून के विदा होने की घोषणा की है। उधर शुक्रवार शाम को शहर में अचानक बादल छाए और करीब आधा घंटे में 10.8 मिमी. (1सेमी.) बरसात हुई। इस दौरान दिन का तापमान 5.6 डिग्रीसे. लुढ़क गया। दोपहर 2ः30 बजे दिन का तापमान 30.6 डिग्रीसे. था, जो शाम 5ः30 बजे 5.6 डिग्रीसे. नीचे लुढ़ककर 25.0 डिग्रीसे. पर आ गया।

मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता के मुताबिक मानसून की विदाई शुरू हो चुकी है। ग्वालियर, भिंड के बाद शुक्रवार को भोपाल और उज्जैन संभाग के कुछ हिस्सों से मानसून रवाना हो गया है। 15 अक्टूबर तक पूरे प्रदेश से मानसून रुखसत हो जाएगा। उधर आसमान साफ रहने से शुक्रवार को सुबह से ही धूप निकली। दोपहर तक धूप में काफी तल्खी भी महसूस हुई। दिन का अधिकतम तापमान भी 31.3 डिग्रीसे. रिकार्ड किया गया, लेकिन शाम करीब 4 बजे मौसम ने अचानक करवट बदली और आसमान पर बादल छा गए। शाम करीब 5 बजे शहर के अलग-अलग स्थानों पर तेज हवा के साथ झमाझम बरसात शुरू हुई।

पानी गिरने का सिलसिला करीब आधा घंटे तक चला। इस दौरान बैरागढ़ के एयरपोर्ट क्षेत्र में 10.8 मिमी. बरसात रिकार्ड हुई। मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि मानसून की विदाई के दौर में भी अरब सागर से कुछ नमी मिल रही है। इससे दक्षिण-पश्चिम मप्र में कहीं-कहीं हल्की बौछारें पड़ रही हैं। भोपाल में शुक्रवार को तापमान बढ़ने और वातावरण में नमी मौजूद रहने से स्थानीय स्तर पर सिस्टम बन गया था। उसके प्रभाव से अचानक बरसात हुई। साहा के मुताबिक 15 अक्टूबर तक पूरे प्रदेश से मानसून के रुखसत होने की संभावना है।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket