भोपाल । कांग्रेस के पक्ष में जुलाई 2019 में क्रास वोटिंग करने से चर्चा में आए मैहर से भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने एक बार फिर चर्चा में है। देशभर में नागरिकता संशोधन कानून पर चल रही सियासत के बीच भाजपा विधायक अब सीएए के विरोध में आ गए हैं। मैहर से भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने पार्टी लाइन के खिलाफ जाकर सीएए कानून के प्रति विरोध जताया है।

संविधान के हिसाब से नहीं चलना तो उसे फाड़कर फेंक दो

भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि धर्म के नाम पर देश का बंटवारा नही किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि या तो आप संविधान के साथ है या विरोध में है और यदि संविधान के हिसाब से नही चलना है तो उसे फाड़कर फेंक देना चाहिए।

गांवों में जिनके आधार कार्ड नहीं बने वे नागरिकता के लिए कागजात कहां से लेकर आएंगे

सीएए कानून का कड़ा विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि मैं एक छोटे से गांव से आता हूं और गांव में आज भी आधार कार्ड नहीं बन रहे तो ऐसे लोग अपनी नागरिकता साबित करने के लिए बाकी कागज कहां से लाएंगे। उन्होंने कहा कि सीएए कानून के कारण गांव में गृहक्लेश जैसी स्थिति निर्मित हो गई है। आज गांव में लोग एक-दूसरे की तरफ देख भी नही रहे हैं।

धर्म के आधार पर देश का बंटवारा सरासर गलत

भाजपा विधायक ने कहा कि भारतीय संस्कृति में वसुधैव कुटुम्बकम की बात होती है लेकिन धर्म के नाम बंटवारा किया जा रहा है, ये बिल्कुल गलत है। पार्टी लाइन से हटकर बयान देने पर उन्होंने कहा कि ये मेरा व्यक्ति बयान है, इससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा ये मेरे दिल की आवाज है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket