भोपाल। सीएम कमलनाथ पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने और नगर निगम कार्यालय पर तालाबंदी कर शासकीय कार्य में बाधा डालने, एमपी नगर में निगम अफसर को धमकाने समेत चार मामलों में पुलिस ने पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह को शुक्रवार दोपहर गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद उन्हें सीधे जिला कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया। उन्हें जमानत देने के दौरान कोर्ट ने परिसर में नारेबाजी न करने की चेतावनी भी दी । वहीं उनके सड़क पर खून बहा देने के बयान पर पार्टी ने उन्‍हें कारण बताओ नोटिस जारी कर 15 दिन में जवाब मांगा है।

डीआईजी इरशाद वली के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक सुरेंद्र नाथ सिंह ने गुस्र्वार को विधानसभा के चलते लगी धारा 144 के दौरान प्रतिबंधात्मक क्षेत्र में प्रवेश कर नारेबाजी की थी। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर 'खून बहाने वाली"आपत्तिजनक टिप्पणी भी की थी।

इस मामले में शुरुआत में उन पर प्रतिबंधात्मक क्षेत्र में घुसने की एफआईआर दर्ज की थी। बाद में उनके खिलाफ धमकाने और शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला भी दर्ज किया गया। वहीं गुस्र्वार रात सुरेंद्रनाथ सिंह ने फोन पर नगर निगम के अफसर को फोन पर धमकाया था। इसका ऑडियो वायरल होने के बाद सिंह पर धमकाने का भी मामला दर्ज किया गया था।

वहीं कुछ दिन पहले सुरेंद्रनाथ सिंह ने नगर निगम कार्यालय पर तालाबंदी कर शासकीय कार्य में बाधा डाली थी। इस मामले में भी उन पर केस दर्ज है। इसके भी पहले एमपी नगर के प्रतिबंधित क्षेत्र में घुसने और बलवा करने को लेकर भी सुरेंद्रनाथ सिंह पर केस दर्ज है। इन चारों मामलों को लेकर सुरेंद्रनाथ सिंह को शुक्रवार को सात नंबर बस स्टाप से गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया।

कांग्रेसियों के प्रदर्शन के बाद सिंह को सात नंबर स्टॉप से किया गिरफ्तार

सुरेंद्रनाथ सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शुक्रवार दोपहर 12 बजे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने टीटी नगर थाने के बाहर धरना प्रदशर््ान किया। इसके बाद पुलिस हरकत में आई। दोपहर दो बजे सिंह की लोकेशन सात नंबर के पास मिलने की सूचना पुलिस को मिली। उनकी गिरफ्तारी के लिए हबीबगंज सीएसपी भूपेंद सिंह और सीएसपी टीटी नगर उमेश तिवारी समेत एक टीआई की टीम बनाई गई। टीम ने उन्हें गिरफ्तार कर सीधे जिला कोर्ट में पेश किया।

चारों मामलों में मिली जमानत

कोर्ट ने सुरेंद्रनाथ को उनके खिलाफ एमपीनगर के दो और टीटी नगर थाना क्षेत्र के दो मामलों में जमानत दे दी है। कोर्ट ने 30- 30 हजार रुपए के मुचलके पर सुरेंद्रनाथ को रिहा कर दिया। साथ ही चेतावनी दी कि कोर्ट परिसर में किसी प्रकार की कोई नारेबाजी नहीं की जाए।

सुरेंद्र नाथ सिंह ने दिखाए बगावती तेवर, बोले- जेल चला जाऊंगा, माफी नहीं मांगूंगा