भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के उपनगर कोलार में भोपाल सिटी लिंक लिमिटेड(बीसीएलएल) की लो फ्लोर बसें बैरागढ़ चीचली से ही वापस हो रही हैं। ये बसें आखिरी बस स्‍टॉप कजलीखेड़ा तक नहीं जा रही हैं। इससे कजलीखेड़ा, थुआखेड़ा, बोरदा, गोल गांव सहित आसपास की दो दर्जन से अधिक कालोनियों की 20 हजार आबादी को लोक परिवहन की सुविधा नहीं मिल पा रही है। लोगों को बैरागढ़ चीचली तक ढाई किलोमीटर तक पैदल आना पड़ रहा है। इसके बाद लो फ्लोर बसों में बैठ पा रहे हैं।

इस इलाके के परेशान रहवासी विधानसभा के सामयिक अध्यक्ष व क्षेत्रीय विधायक रामेश्वर शर्मा से कई बार कजलीखेड़ा तक बसों का संचालन करने के लिए कह चुके हैं, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हो रही है। बीसीएलएल प्रबंधन भी लोगों की परेशानी नहीं समझ रहा है। बता दें कि ढाई साल पहले विधायक रामेश्वर शर्मा ने लोगों की मांग पर बसों का आखिरी बस स्‍टॉप बैरागढ़ चीचली से बढ़ाकर कजलीखेड़ा तक कराया था। वर्तमान में कोलार में एसआर-4 करोंद से कजलीखेड़ी और एसआर-8 कजलीखेड़ा से बाया आइएसबीटी से रेलवे बस स्टैंड प्लेटफार्म नंबर-8 से कोच फेक्ट्री तक जाती है। इसके अलावा कजलीखेड़ा से फंदा तक मार्ग पर लो फ्लोर बस संचालित होती है। तीनों मार्ग की बसों को कजलीखेड़ा तक जाना चाहिए, लेकिन बस चालक बैरागढ़ चीचली से ही बसों को वापस मोड़ लेते हैं। इससे कजलीखेड़ा बस स्‍टॉप पर लोग बसों का इंतजार ही करते रहते हैं। मजबूरी में बस पकड़ने के लिए बैरागढ़ चीचली तक आना पड़ता है। वहीं बैरागढ़ चीचली से कजलीखेड़ा पहुंचने के लिए पैदल जाना पड़ता है। इस संबंध में बीसीएलएल के प्रवक्ता संजय सोनी ने बताया कि जल्द ही औचक निरीक्षण कर बसों के संचालन को देखा जाएगा। व्यवस्था बहाल की जाएगी।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस