भोपाल(राज्य ब्यूरो)। छह अगस्त को रायपुर में होने वाली मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक अब भोपाल में 23 अगस्त को होगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों सहित अधिकारी शामिल होंगे। बैठक में राज्यों के आर्थिक विकास, सुरक्षा और कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी।

मध्य प्रदेश में होने वाली इस बैठक में राज्यों में बढ़ रहे साइबर अपराध और नक्सलवाद सहित कई अन्य मुद्दों पर चर्चा होगी। इससे पहले वर्ष 2020 में छत्तीसगढ़ में यह बैठक आयोजित की गई थी, इसमें तत्कालीन मुख्यमंत्री कमल नाथ शामिल हुए थे।

केंद्र सरकार द्वारा गठित वैधानिक संस्था मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री व अधिकारी शामिल होंगे। इस परिषद का गठन राज्य पुनर्गठन आयोग की सिफारिश पर 1956 में किया गया था। इसके तहत सभी राज्यों को छह परिषद में बांटा गया है। राज्यों के बीच आपसी समन्वय, आर्थिक और सामाजिक विकास जैसे मुद्दों पर चर्चा कर केंद्र सरकार से समाधान निकालना परिषद की जिम्मेदारी है।

नक्सल समस्या पर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे मप्र व छत्तीसगढ़

मध्य क्षेत्रीय परिषद की बैठक में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की नक्सली समस्या पर दोनों प्रभावित राज्यों द्वारा एक रिपोर्ट पेश की जाएगी। दोनों राज्य केंद्र सरकार से मांगी जाने वाली मदद का इसमें जिक्र करेंगे। केंद्र के साथ मिलकर इसे कैसे नियंत्रित किया जाए। इसका प्लान तैयार करेंगे। वहीं बढ़ते साइबर अपराध, ड्रग्स तस्करी, छत्तीसगढ़ के गठन के बाद से लंबित मुद्दे बैठक में शामिल रहेंगे। वहीं उत्तर प्रदेश के साथ संयुक्त परियोजना केन-बेतवा लिंक परियोजना से बुंदेलखंड को मिलने वाले पानी के मुद्दे पर चर्चा होगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close