भोपाल। प्रदेश में अतिवर्षा और बाढ़ से चौपट फसल, सड़क, पुल-पुलिया व भवनों को पहुंचे नुकसान की भरपाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से राहत पैकेज की मांग की है। करीब 6621 करोड़ रुपए का मांग पत्र मुख्यमंत्री ने सोमवार को सौंपा। इससे फसल से नुकसान और अधोसंरचना विकास के काम होंगे।

सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री के साथ हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने अतिवर्षा और बाढ़ से प्रभावित जिलों का ब्योरा दिया। उन्होंने कहा कि 52 में से 36 जिलों में 16 हजार करोड़ रुपए मूल्य से ज्यादा की खरीफ फसलें चौपट हुई हैं। 50 लाख से ज्यादा किसान प्रभावित हुए हैं। कई जिलों में फसल पूरी तरह से नष्ट हो गई। वहीं, सड़क, पुल-पुलिया, सरकारी व निजी भवनों को बड़ी तादाद में नुकसान हुआ है।

प्रभावितों को तत्काल राहत मुहैया कराने के लिए आर्थिक पैकेज की दरकार है। इसके लिए नुकसान का आकलन करने के बाद राष्ट्रीय आपदा राहत कोष (एनडीआरएफ) से छह हजार 621 करोड़ रुपए की मांग की है। इसमें सड़कों के लिए एक हजार 671 करोड़ रुपए भी मांगे गए हैं। बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री को सहायता दिलवाने का भरोसा दिलाया है।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने वर्ष 2018-19 में केंद्रीय कर व योजनाओं में काटी गई करीब दस हजार करोड़ की राशि देने की बात भी उठाई। सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई बढ़ाए जाने से बड़वानी सहित अन्य जिलों के जो 176 गांव पानी में डूब गए, उनके लिए दस हजार करोड़ रुपए मांगे गए हैं। चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री शाह से डिजास्टर रिलीफ मैनेजमेंट की बैठक बुलाने की अपील भी की।

Posted By: Hemant Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close