भोपाल(राज्य ब्यूरो)। अंतरराष्ट्रीय टोमेटो कान्क्लेव का वर्चुअल उदघाटन करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को किसानों से अपील की कि हमने गेहूं-धान के उत्पादन में रिकार्ड तोड़े हैंं। अब फसल (क्राप) का पैटर्न बदलना पड़ेगा। परंपरागत फसलों की खेती से इतर फल-फूल, सब्जी, औषधीय, कृषि वानिकी और प्राकृतिक खेती की ओर बढ़ना पड़ेगा। साथ ही उन्होंने चेताया कि उत्पादन घटने न दें। कान्क्लेव में भारत के कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश के उद्यानिकी मंत्री भारत सिंह कुशवाह, नीदरलैंड के राजूदत, कोटेश्वर राव ग्वालियर कृषि विवि के कुलपति जुड़े हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गेहूं कि जरूरत दुनियाभर के बाजार में है। मध्य प्रदेश से गेहूं निर्यात भी हो रहा है, पर घरेलू जरूरतों को देखते हुए भारत सरकार ने निर्यात पर प्रतिबंध लगाया है। अब हमें परंपरागत खेती से हटकर सोचना पड़ेगा। हमने फूड प्रोसेसिंग की आकर्षक नीति बनाई है। एक जिला-एक उत्पाद कार्यक्रम शुरू किया है। यह बताते हुए खुशी हो रही है कि प्रदेश में टमाटर बहुत हो रहा है। इस कार्यक्रम में 12 जिलों ने टमाटर का चयन किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 साल में प्रदेश ने कृषि के क्षेत्र में इतिहास रचा है। सिंचाई की सुविधा साढ़े सात लाख हेक्टेयर से बढ़ाकर 43 लाख हेक्टेयर कर दी गई है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संकल्प लिया है कि किसानों की आय दो गुनी करेंगे, इसे पूरा करने में मध्य प्रदेश कोई कसर नहीं छोड़ेगा। उत्पादन लागत घटाने के प्रयास के साथ किसानों को फसल का उचित मूल्य दिलाने के किए हैं। उन्हें बाजार उपलब्ध कराने की कोशिश की है। आपदा पर दी सहायता मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राकृतिक आपदा आने पर सहायता उपलब्ध कराने के प्रयास किए हैं। विविधीकरण पर हम ध्यान दे रहे हैं। इन सुविधाओं के कारण गेहूं के उत्पादन में पंजाब को पीछे छोड़ दिया। धान का उत्पादन जबरदस्त बढ़ा है। दलहन में चमत्कार किया है। मंूग तीसरी फसल के रूप में ले रहे हैं। हम परंपरागत खेती ही नहीं करना चाहते हैं। कृषि के विविधीकरण के लिए कई कदम उठाए हैं। मप्र में उद्यानिकी फसलों का रकबा बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं। सिर्फ फसल और सब्जी पैदा ही न करें, खाद्य प्रसंस्करण से भी जोड़ें।

नौ एकड़ में 766 टन टमाटर उगाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं भी किसान हूं। मैंने अनार, अमरुद उगाए। वर्तमान में आम की खेती कर रहा हूं। इस साल मैंने नौ एकड़ में टमाटर की फसल ली है। अभी हिसाब-किताब करके आ रहा हूं। 766 टन टमाटर निकला है। टमाटर के उत्पादन में हमने रिकार्ड बनाया है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close