भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी में बसे ईसाई समुदाय ने 25 दिसंबर को क्रिसमस पर्व मनाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण इस बार भी सादगी से ही पर्व मनाया जाएगा। कुछ दिन पहले तक कोरोना संक्रमण का प्रकोप काफी कम हो गया था और शासन ने भी तमाम प्रतिबंधों में ढील दे दी थी। ऐसे में शहर के प्रमुख गिरजाघरों में बड़े कार्यक्रम आयोजित करने की तैयारियां शुरू हो गई थी, लेकिन अब ईसाई समाज के लोगों ने सादगी से मनाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं। अभी से केक के आर्डर, नए-नए कपड़े, गिरजाघर व घरों की सजावट का कार्य परंपरागत तरीके से शुरू हो गए हैं। कोविड के मरीज बढ़ने से अब कोरोना गाइडलाइन का पालन करने पर ईसाई समाज ने जोर देना शुरू कर दिया है। क्रिसमस पर्व गिरजाघरों में पूरी सादगी एवं शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए मनाया जाएगा। एहतियात बरतने के लिए सभी ईसाई समुदाय परिवार अपने अपने घरों में रिश्तेदारों मित्रों और परिवार के साथ पूर्ण सादगी के साथ क्रिसमस पर्व मनाने का निर्णय ले चुके हैं। यदि 25 दिसंबर से पहले कोरोना कम हुआ तो सार्वजनिक बड़े कार्यक्रम भी किए जा सकते हैं।

बता दें कि कोरोना के कारण बीते दो सालों से सादगी से क्रिसमस पर्व मनाया जा रहा है। सेंटा क्लॉज के साथ घर-घर जाकर कैरोल गीत और प्राथनाएं नहीं की जा रही हैं। कोरोना के कारण इस साल भी बड़े स्तर पर सार्वजनिक कार्यक्रम व कैरोल नहीं किया जाएगा। शहर में भेल बरखेड़ा, गोविंदपुरा, बरखेड़ी, जहांगीराबाद, 11 नंबर बस स्टाप, कोलार गेहूंखेड़ा सहित अन्य गिरजाघरों में बड़े स्तर पर कार्यक्रम होते थे, लेकिन कोरोना के कारण सीमित लोगों की उपस्‍थिति में ही क्रिसमस मनाने की फिलहाल तैयारी है।

आनलाइन होगी प्रार्थना सभा

ईसाई समाज के प्रवक्ता फादर स्टीफन मारिया ने बताया कि प्रभु यीशु के जन्मदिवस का पर्व लोग बहुत ही उत्साह से मनाते हैं, लेकिन कोरोना को देखते हुए गिरजाघर में सीमित लोगों को ही आने की अनुमति दी जाएगी। आनलाइन प्रार्थनासभा में जुड़कर उनको घर पर ही केक काटकर प्रार्थना, भजन कर खुशियां मनाने की अपील करेंगे। कोरोना मुक्ति के लिए प्रभु यीशु से प्रार्थनाए करेंगे।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local