भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने से आई बाढ़ के मृतकों को श्रद्धांजलि देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को व‍िधानसभा में पर्यावरण और विकास के असंतुलन का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि दुनिया को इस बारे में सोचना होगा कि पर्यावरण और विकास के बीच संतुलन हो। उन्होंने इसे प्राकृतिक आपदा बताते हुए कहा कि बिजली परियोजना में काम कर रहे कई साथी नहीं रहे। नेता प्रतिपक्ष कमल नाथ ने दिल्ली में किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले दो सौ किसान और मुरैना में जहरीली शराब से मृतकों को भी श्रद्धांजलि दी। इसके बाद बुधवार तक के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

सदन में व‍िधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने पूर्व मुख्यमंत्री मोतीलाल वोरा, कैलाश नारायण सारंग, पूर्व केंद्रीय मंत्रियों सहित सीधी बस दुर्घटना का जिक्र करते हुए दिवंगतों को श्रद्धांजलि दी। सदन के नेता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री मोतीलाल वोरा ऐसे नेता थे जो दलगत राजनीति से ऊपर उठकर समस्या के समाधान में विश्वास करते थे।कैलाश नारायण सारंग ने कार्यकर्ताओं को गढ़ने और संगठन की जड़ें गहरे तक जमाने का काम किया था। सीधी बस दुर्घटना में पूरी बस नहर में समा गई। काफी प्रयास के बाद भी हम यात्रियों को नहीं बचा सके। इसमें कुछ बच्चे तो परीक्षा देने जा रहे थे।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सबका समय आता है। जो आया है वो जाएगा पर कुछ लोग अपनी याद और गहरी छाप छोड़ जाते हैं। वोरा के सबसे मधुर संंबंध। थे। जब किसी को मैं नहीं समझा पाता था, तब उनकी मदद लेता था। कैलाश सारंग को लेकर उन्होंने कहा कि ऐसे लोग राजनीति में कम होते हैं, जो विपक्ष के लोगों का भी दिल जीत लेते हैं। हमारे पास भी ऐसे नेता थे, जो दूसरों के लिए उदाहरण थे।

सीधी बस दुर्घटना का उल्लेख करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि मृतकों के स्वजनों को नौकरी दें क्योंकि कई बेहद गरीब पृष्ठभूमि के थे। उत्तराखंड के हादसे को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री की राय से सहमति जताते हुए कहा कि पर्यावरण और विकास के बीच संतुलन बनाने पर विचार करना होगा। चर्चा की शुरुआत में पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा और डॉ. विजय लक्ष्मी साधौ ने निधन उल्लेख में किसानों का जिक्र नहीं होने पर आपत्ति उठाई थी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags