भोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कल शपथ लेने वाले 5 मंत्रियों को विभागों का बंटवारा कर दिया। नरोत्तम मिश्रा को गृह और स्वास्थ्य विभाग, मीना सिंह को आदिम जाति कल्याण‍ विभाग। तुलसी सिलावट को जल संसाधन, कमल पटेल को कृषि मंत्रालय, गोविंद सिंह राजपूत को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग सौंपा गया। बताया जा रहा है कि सीएम शिवराज सिंह चौहान विभागों को बंटवारे को लेकर राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने पहुंचे थे। इसके बाद मंत्रियों के विभागों की घोषणा कर दी गई। सीएम ने मंत्रियों के विभागों की घोषणा करते हुए कहा कि अभी कोरोना की वजह से 5 मंत्रियों को ही कैबिनेट में शामिल किया गया है। 3 मई के बाद लॉकडाउन खुलने के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार होगा, जिसमें फिर विभागों का वितरण किया जाएगा।

नरोत्तम मिश्रा : गृह विभाग, लोक स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण स्वास्थ्य संबंधी कार्य

कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए राज्य स्तर पर प्रबन्धन एवं अनुश्रवण एवं समन्वयन करना कोरोना से निपटने हेतु चिकित्सा उपकरणों, दवा एवं सामग्रियों की व्यवस्था, अस्पताल प्रबंधन, सर्वे, सैम्पलिंग, टेस्टिंग तथा उपचार आदि की व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करना। प्रदेश के शासकीय एवं निजी अस्पतालों, समाजसेवियों, सभी प्रकार के स्वास्थ्य संगठनों से निरन्तर संवाद स्थापित कर आ रही कठिनाइयों को डोर करना जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स से चर्चा करना एवं उनके द्वारा तैयार रणनीति एवं लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की समीक्षा करना। जिलों में समाजसेवी संगठनों, गणमान्य नागरिकों, व्यापार /उद्योग /कृषि एवं अन्य क्षेत्रों के प्रतिनिधि संगठनों तथा धर्मगुरुओं आदि से संवाद बनाये रखना और कोरोना के नियंत्रण में इन सबका सहयोग प्राप्त करना। कोविड-19 संक्रमण के समय में स्वास्थ्य के क्षेत्र के लिए विगत एक माह में किए गए महत्वपूर्ण निर्णयों का परिपालन सुनिश्चित करवाना।

तुलसीराम सिलावट : जल संसाधन विभाग

मध्यप्रदेश के स्कूलों एवं कॉलेजों में अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कक्षाओं का संचालन एवं स्कूलों/ कॉलेजों से सम्बंधित वे महत्वपूर्ण विषय देखना , जिनका त्वरित समाधान किया जाना आवश्यक हो। मध्यप्रदेश के वे निवासी/विद्यार्थी /प्रवासी श्रमिक जो प्रदेश के बाहर अन्य राज्यों में फंसे हैं, उनके भोजन /आश्रय /दवा आदि सभी व्यवस्थाओं का अनुश्रवण करना। मुख्यमंत्री प्रवासी मजदूर सहायता योजना के अंतर्गत मजदूरों को 1000 रुपये की सहायता राशि उनके बैंक खातों में अंतरित किये जाने सम्बन्धी कार्य की नियमित समीक्षा। अन्य राज्यों के ऐसे प्रवासी श्रमिक जो मध्यप्रदेश में फंसे हैं, उनके भोजन /आश्रय /दवा आदि सभी व्यवस्थाओं का अनुश्रवण करना। जिलों में समाजसेवी संगठनों, गणमान्य नागरिकों, व्यापार /उद्योग /कृषि एवं अन्य क्षेत्रों के प्रतिनिधि संगठनों तथा धर्मगुरुओं आदि से संवाद बनाए रखना और कोरोना के नियंत्रण में इन सबका सहयोग प्राप्त करना कोविड – संक्रमण के समय में शिक्षा क्षेत्र के लिए विगत एक माह में किये गए महत्वपूर्ण निर्णयों का परिपालन सुनिश्चित करवाना।

कमल पटेल : कृषि विभाग

मध्यप्रदेश में चल रहे उपार्जन कार्य के अंतर्गत किसानों को फसल के समर्थन मूल्य का भुगतान समय पर तथा पूरा हो, इसकी समीक्षा कृषि विभाग के स्तर पर करना। जहां- जहां फसलों की कटाई का कार्य शेष हैं, वहां हार्वेस्टर/थ्रेशर /ट्रेक्टर आदि के आवागमन /सर्विसिंग आदि की पर्याप्त व्यवस्था एवं भूसे की समुचित व्यवस्था ताकि शेष कटाई कार्य निर्विघ्न रूप से हो जाए। आगामी खरीफ के लिए कृषि आदान, उपकरण, खाद–बीज, कृषि ऋण उपलब्धता आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करना। जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स से चर्चा करना एवं उनके द्वारा तैयार रणनीति एवं लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की समीक्षा करना। कोविड– 19 संक्रमण के समय में कृषि क्षेत्र के लिए विगत एक माह में किये गए महत्वपूर्ण निर्णयों का परिपालन सुनिश्चित करवाना। जिलों में समाजसेवी संगठनों, गणमान्य नागरिकों, व्यापार /उद्योग /कृषि एवं अन्य क्षेत्रों के प्रतिनिधि संगठनों तथा धर्मगुरुओं आदि से संवाद बनाये रखना और कोरोना के नियंत्रण में इन सबका सहयोग प्राप्त करना।

गोविन्द सिंह राजपूत : खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग, सहकारिता

मध्यप्रदेश में चल रहे उपार्जन कार्य के अंतर्गत किसानों को फसल के समर्थन मूल्य का भुगतान समय पर तथा पूरा हो, इसकी समीक्षा कृषि विभाग के स्तर पर करना। सार्वजानिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत राशन वितरण संबंधी समस्त कार्य एवं सप्लाई में किसी प्रकार की दिक्कत न हो, यह सुनिश्चित करना। प्रदेश में खाद्यान वितरण सम्बन्धी कार्य सुव्यवस्थित एवं योजनाबद्ध रूप से करवाना। जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स से चर्चा करना एवं उनके द्वारा तैयार रणनीति एवं लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की समीक्षा करना। जिलों में समाजसेवी संगठनों, गणमान्य नागरिकों, व्यापार/उद्योग/कृषि एवं अन्य क्षेत्रों के प्रतिनिधि संगठनों तथा धर्मगुरुओं आदि से संवाद बनाये रखना और कोरोना के नियंत्रण में इन सबका सहयोग प्राप्त करना।

मीना सिंह मांडवे : आदिम जाति कल्याण

प्रदेश में सभी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के अंतर्गत पेंशन आदि का हितग्राहियों के खातों में वितरण। संबल योजना का प्रभावी क्रियान्वयन। सुनिश्चित करना कि वरिष्ठजनों/दिव्यंगों / कमजोर वर्ग के लोगों को किसी प्रकार की कठिनाई न हो। जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स से चर्चा करना एवं उनके द्वारा तैयार रणनीति एवं लिए गए निर्णयों के क्रियान्वयन की समीक्षा करना। जिलों में समाजसेवी संगठनों, गणमान्य नागरिकों, व्यापार /उद्योग /कृषि एवं अन्य क्षेत्रों के प्रतिनिधि संगठनों तथा धर्मगुरुओं आदि से संवाद बनाये रखना और कोरोना के नियंत्रण में इन सबका सहयोग प्राप्त करना। तेदुपत्‍ता तुड़ाई एवं अन्‍य लघु वन उपज की खरीदी।

इसके पहले मंगलवार को 5 मंत्रियों को शपथ दिलाए जाने के बाद उन्हें संभागों का जिम्मा सौपा गया था। डॉ.नरोत्तम मिश्रा को भोपाल व उज्जैन, तुलसी सिलावट को इंदौर और सागर, कमल पटेल को जबलपुर व नर्मदापुरम, गोविंद सिंह राजपूत को चंबल व ग्वालियर और मीना सिंह को रीवा एवं शहडोल संभाग सौपा गया था।सीएम द्वारा विभागों के बंटवारे के बाद कांग्रेस नेताओं ने निशाना साधते हुए कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत को खास विभाग नहीं दिया गए हैं।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना